चार जालसाज गिरफ्तार, गये जेल, जानें क्यों बनाते थे आर्मी की फर्जी सेवा पुस्तिका


जौनपुर। जनपद के थाना शाहगंज पुलिस एवं आर्मी इंटेलिजेन्स टीम लखनऊ तथा स्वाट टीम ने संयुक्त रूप से कूटरचित आर्मी के सेवामुक्ति पुस्तिका प्रमाण पत्र बनाने वाले चार जालसाजो को गिरफ्तार कर उनके पास से 04 आर्मी की सेवा पुस्तिका प्रमाण पत्र बरामद करते हुए उनके खिलाफ विधिक कार्यवाई करने के बाद आज जेल की सलाखों के पीछे पहुंचा दिया गया है। 
इस संदर्भ में अपर पुलिस अधीक्षक नगर संजय कुमार ने बताया कि इन जालसाजो द्वारा फर्जी तरीके से आर्मी की सेवा पुस्तिका बना कर भिन्न- भिन्न बैंको/ ए0टी0एम0 आदि पर सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी प्राप्त की जाती रही है। सूत्र से इनके कारनामों की भनक लगने के बाद पुलिस पूरी टीम के साथ छानबीन की तो पोल खुली और चार पकड़े गये। इस गिरोह के सरगना की तलाश जारी है।
अपर पुलिस अधीक्षक के अनुसार प्रभारी निरीक्षक शाहंगज सदानन्द राय व हमराही कर्मचारी गण तथा स्वाट टीम एवं आर्मी इंटेलिजेंस टीम लखनऊ की सूचना पर कूटरचित सेना के सेवामुक्ति पुस्तिका प्रमाण पत्र बनाने वालो की तलाश में लगी तो अभियुक्त 1.प्रमोद कुमार यादव पुत्र रामकिशोर यादव नि बघडवाडा थाना सरपतहाँ जनपद जौनपुर, 2.सुरेन्द्र प्रसाद सिंह पुत्र स्व0 रामसेवक सिंह नि0 बसौली थाना सरपतहाँ जनपद जौनपुर, 3. रनधीर यादव पुत्र चन्द्रबली यादव नि0 काजीशाहपुर थाना खुटहन जनपद जौनपुर, 4.विनोद कुमार राय पुत्र हरि कुमार राय नि0 पिपरौला थाना दीदारगंज जनपद आजमगढ को इस कूटरचना में संलिप्तता पाते हुए गिरफ्तार किया गया  एवं उनके कब्जे से कुल 04 कूटरचित आर्मी की सेवामुक्ति पुस्तिका प्रमाण पत्र बरामद कर उनके विरूद्ध अभियोग पंजीकृत कर विधिक कार्यवाही की गयी है ।

अभियुक्तगणों द्वारा पूछताछ पर बताया गया कि हम लोग कूटरचित आर्मी सेवामुक्ति पुस्तिका प्रमाण पत्र के आधार पर भिन्न-भिन्न बैंको व ए0टी0एम0 तथा कैश मोबाइल में सिक्टोरिटी गार्ड की नौकरी कर रहे थे। हम लोग कभी भी आर्मी में भर्ती नही हुए थे।अभियुक्तगणों के मुख्य सहयोगी की तलाश की जा रही है। इनके विरूद्ध मुअसं 288/22 से धारा 420, 467, 468, 471भादवि के तहत थाना शाहगंज में पंजीकृत करते हुए जेल रवाना कर दिया गया है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पुलिस मुठभेड़ में मारे गए बदमाशो का शव उनके पिता ने लेने से किया इनकार जानें कारण

गुरूजी को अपनी छात्रा से लगा प्रेम रोग तो अब पहुंच गए सलाखों के पीछे,थाने में हुआ एफआइआर दर्ज

पुलिस मुठभेड़ में दो सगे भाई बदमाश मारे गये एक फरार जिसकी तलाश जारी है