अशोका इंस्टीट्यूट में फ्रेशर पार्टी, काजलबनी मिस फ्रेसर व शेखर मिस्टर फ्रेसर



वाराणसी। इंजीनियरिंग और प्रबंधन की शिक्षा देने वाला पूर्वांचल का अग्रणीय संस्थान अशोका इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट (Ashoka Institute Of Technology And Management), और अशोका स्कूल आफ बिजनेस, पहड़िया में संयुक्त रूप से आयोजित फ्रेशर्स पार्टी में बायोटेक की स्टूडेंट् काजल मिश्रा मिस फ्रेसर और बीकाम के स्टूडेंट शेखर शर्मा मिस्टर फ्रेशर चुने गए। सीनियर स्टूडेंट्स ने पहले साल के स्टूडेंट्स का स्वागत किया। इस मौके इंस्टीट्यूट के छात्र-छात्रों ने रंगारंग कार्यक्रम पेश कर माहौल खुशनुमा बना दिया। इस दौरान स्टूडेंट्स ने रैंपवाक, नृत्य, गेम्स की शानदार प्रस्तुति दी। छात्र-छात्राओं का समूह मंच पर पहुंचा तो सांस्कृतिक विविधता की झलक भी दिखाई दी। स्टूडेंट्स ने अपने गीत-संगीत से कभी सभी का दिल जीता तो कभी नृत्य से वाहवाही बटोरी।
सीनियर्स ने जूनियर्स का जहां कालेज आने पर स्वागत किया वही भविष्य में हमेशा सच्चाई के रास्ते पर चलने की सीख भी दी। कार्यक्रम की शुरुआत जान-पहचान राउंड से हुई। इसके दौरान स्टूडेंट्स की ओर से मॉडलिंग की गई। प्रश्न राउंड में भी छात्रों ने काफी दिलचस्पी दिखाई। फ्रेशर्स पार्टी की इस गौरवशाली परंपरा की कल्पना और प्रबंधन कॉलेज के छात्रों द्वारा किया गया था। रंगारंग कार्यक्रम  मानवीय पाठक, आशीष, सोम्या, तनीषा, जान्वी, कशिश, वैशाली, प्रियंका, मन्नू, सेजल आदि के नृत्य की प्रस्तुति शानदार रही।
इस मौके पर मिस्टर एंड मिसेज फ्रेशर का चयन करने के लिए एक मॉडलिंग प्रतियोगिता भी आयोजित की गई। फ्रेशर पार्टी में बायोटेक की स्टूडेंट् काजल मिश्रा मिस फ्रेसर और बीकाम के स्टूडेंट शोखर शर्मा मिस्टर फ्रेशर चुने गए। मिस्टर हैंडसम का खिताब अभिषेक सिंह और मिस ब्यूटीफुल का ताज अंजली सिंह के सिर पर सजा। इनके अलावा मयंक सिंह मिस्टर परफार्मर और गुलशन मौर्य मिस परफार्मर चुनी गईं। इसी क्रम में अभिषेक चौबे और आकांक्षा उपाध्याय क्रमशः मिस्टर कांफिडेंस और मिस कांफिडेंस चुने गए।
अशोका इंस्टीट्यूट के चेयरमैन अंकित मौर्य ने स्टूडेंट्स का उत्साहवर्धन करते हुए कहा कि सच्ची लगन व परिश्रम से सफलता हासिल की जा सकती है। जीवन में कुछ कर गुजरने के लिए मौसम नहीं, मन चाहिए। आपका निजी कमिटमेंट ही आपको सफलता की ओर ले जा सकता है। उन्होंने स्टेडंट्स से कहा कि सफल होने के लिए दो चीजें महत्वपूर्ण हैं। एक अच्छा इंसान बनना और दूसरा कृत्रिम खुशी से दूर रहना।
कार्यक्रम के आखिर में अशोका इंस्टीट्यूट की निदेशक डा.सारिका श्रीवास्तव, अशोका बिजनेस स्कूल के निदेशक प्रो.सीपी मल्ल और अशोका फार्मेसी कालेज के निदेशक बृजेश सिंह ने अतिथियों का शुक्रिया अदा किया और स्टूडेंट्स को संबोधित करते हुए कहा कि सफलता का कोई शार्टकट नहीं होता। तरक्की के लिए खुद प्रतिस्पर्धा करनी होगी, तभी आप अपने और अपने माता- पिता के सपनों को पूरा कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि इस तरह के आयोजन से छात्रों की रचनात्मक प्रतिभा का विकास होता है। साथ ही छिपे हुए कौशल को निखारने में मदद मिलती है। कार्यक्रम का संचालन शर्मिला सिंह और अरविंद कुमार ने किया। ज्यूरी मेंबर में खुशबू कुमार, गौरव ओझा और अवनीश श्रीवास्तव शामिल थे। इस मौके पर डीएन एसएस कुशवाहा, रजिस्ट्रार असीम देव, डा.प्रीति सिंह, धर्मेंद्र दुबे, सौम्या श्रीवास्तव, राजीव कुमार यादव, अर्जुन सिंह, अभिषेक कुमार, राजेंद्र तिवारी, सोमेंद्र बनर्जी, अनुजा सिंह प्रशांत कुमार गुप्ता, ओपी शर्मा समेत सभी फैकेल्टी मेंबर्स और बड़ी संख्या में स्टूडेंट्स मौजूद थे।

Comments

Popular posts from this blog

बाहुबली नेता एवं पूर्व विधायक के परिवार जनों पर फिर मारपीट और छेड़खानी का मुकदमा हुआ दर्ज, पुलिस जांच पड़ताल में जुटी

सपा ने जारी किया सात लोकसभा के लिए प्रत्याशियों की सूची,जौनपुर से मौर्य समाज पर दांव,बाबू सिंह कुशवाहा प्रत्याशी घोषित देखे सूची

भाजपा के प्रत्यशियो की दसवीं सूची जारी, मछलीशहर से भी प्रत्याशी घोषित देखे सूची