गलतियां मानवीय भूल, सुधारने की है जरूरत- प्रो निर्मला एस मौर्य


छह अवकाश प्राप्त कर्मचारियों को दी गई विदाई  पीयू शिक्षणेत्तर कर्मचारी संघ ने किया आयोजन
जौनपुर।  वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के अवकाश प्राप्त छह कर्मचारियों का विदाई समारोह वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के शिक्षणेत्तर कर्मचारी संघ की तरफ से गुरुवार को आर्यभट्ट सभागार में किया गया।
इस अवसर पर कुलपति प्रो. निर्मला एस. मौर्य ने कर्मचारियों को स्नेह देते हुए कहा कि गलतियां मानवीय भूल है उसे माफ करने की नहीं सुधारने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि कर्मचारियों के लिए आपसी सहयोग से कल्याण कोष बनाया जाना चाहिए ताकि उसका उपयोग ऐसे समय पर किया जा सके। उन्होंने कहा कि हमारे कर्मचारी जो ईमानदारी से सेवा दिए हैं वह अवकाशप्राप्त के बाद भी नहीं बैठेंगें। कोई ना कोई नया काम में अपना जीवन व्यतीत करेंगे, मुझे यह पूरा विश्वास है। कुलसचिव महेंद्र कुमार ने अतीत, वर्तमान और भविष्य को परिभाषित करते हुए अवकाश प्राप्त कर्मचारियों को आगे का जीवन जीने का टिप्स दिया। उन्होंने कहा कि अधिकारियों के बुलावे से मुक्ति मिली है समाज के बुलावे से नहीं। बुलावा तो काम करने वालों को आता ही रहेगा।
वित्त अधिकारी संजय कुमार राय ने कहा कि आप का अवकाश विश्वविद्यालय से हुआ है समाज से नहीं। अब आपको सामाजिक जीवन में व्यस्त रहने या शुरू करने का समय आ गया है। आपकी जिम्मेदारी घर, परिवार और समाज के प्रति बढ़ गई है।
शिक्षणेत्तर कर्मचारी संघ अध्यक्ष नन्द किशोर सिंह ने कहा कि विश्वविद्यालय में कर्मचारियों की समस्याओं के प्रति अधिकारी सहयोग करें। उनके व्यवहारिक नजरिए से ही समस्याओं का समाधान हो जाएगा। विश्वविद्यालय के विकास में भी कर्मचारियों का विशेष योगदान रहता है। महामंत्री रमेश यादव ने ने अवकाश प्राप्त कर्मचारियों को बधाई देते हुए उनके स्वस्थ और आनंद रहने की कामना की।
स्वागत भाषण पूर्व अध्यक्ष रामजी सिंह, संचालन डॉ राजेश सिंह और धन्यवाद ज्ञापन केशव प्रसाद यादव ने किया।इस अवसर पर सहायक कुलसचिव अमृतलाल, बबिता सिंह, अजीत सिंह, राजेश सिंह समेत कई अधिकारियों ने कुलपति प्रो निर्मला एस मौर्य को पुष्प गुच्छ भेंट कर स्वागत किया।
इसके बाद अवकाश प्राप्त कर्मचारी उदयराज पटेल, जनार्दन राम, मुरारी राम, त्रिलोकी नाथ यादव, रमेश कुमार सिंह, दीनानाथ यादव को विश्वविद्यालय के कर्मचारियों ने पुष्प कुछ भेंट कर सम्मान किया।इस अवसर पर डॉ लक्ष्मी प्रसाद मौर्य, राजेश सिंह,  डा. पीके कौशिक, मदनमोहन भट्ट, हेमंत श्रीवास्तव, श्याम त्रिपाठी, सुबोध कुमार पाण्डेय, डॉ स्वतंत्र कुमार, कपिल कुमार त्यागी,  डॉ अमित वत्स, सुनील कुमार सिंह, अरुण कुमार सिंह,‌ सुशील कुमार प्रजापति, अशोक सिंह, रजनीश सिंह, रमेश पाल, राजनारायण सिंह,आनंद कुमार सिंह, आशुतोष कुमार सिंह, इन्द्रेश गंगवार, राजेश गुप्ता आदि शामिल थे।

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद