केन्द्र की भाजपा सरकार लोक सभा से विपक्ष को हटाकर मनमानी करते हुए लोकतंत्र खत्म करना चाहती है - विपक्ष

जौनपुर। लोक सभा एवं राज्य सभा से विपक्षी दल के सांसदो को बड़ी संख्या में की गई निलम्बन की कार्रवाई के खिलाफ इण्डिया गठबंधन के सभी विपक्षी दलो के नेतृत्व के आह्वान पर सपा, कांग्रेस, आप, कम्युनिस्ट पार्टी,  सहित सीपीआई, सीपीएम, आदि सभी राजनैतिक दलो के द्वारा कलेक्ट्रेट परिसर स्थित जन सभा स्थल पर प्रदर्शन करते हुए निलम्बन का विरोध जताया गया।
इण्डिया गठबंधन के नेतृत्व के आह्वान पर 
समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव निर्देश पर सपा के निवर्तमान जिलाअध्यक्ष डाॅ अवधनाथ पाल के नेतृत्व में इंडिया गठबंधन के साथियों के साथ 142 सांसदों के अलोकतांत्रिक निलम्बन के विरोध में कलेक्ट्रेट परिसर में विशाल धरना दिया।धरना का नेतृत्व कर रहें डाॅ अवधनाथ पाल ने कहा है कि भाजपा सरकार लोकतंत्र संविधान को खत्म कर देना चाहती हैं सरकार के खिलाफ जो भी बोलेगा उसे प्रताड़ित और जेलों में भेजने का काम करती हैं विपक्ष के सांसदों का जिस तरह निलंबन हुआ उससे अब यही महसूस हो रहा है भाजपा सरकार लोकतंत्र प्रक्रिया को पूर्ण रूप से खत्म कर देना चाहती है सरकार के गलत नीतियों से देश की जनता, किसान और नौजवान सभी लोग दुःखी है। केन्द्र की सरकार उद्योगपतियों की सरकार है। यह गरीब और किसान की सरकार नहीं है। केन्द्र की भाजपा सरकार ने उद्योगपतियों का कर्ज माफ कर दिया लेकिन किसानों का कर्ज माफ नहीं किया। जनता भाजपा से नाराज है और वह परिवर्तन चाहती है। 2024 के लोकसभा चुनाव में जनता भाजपा को सत्ता से हटा देगी। 
पूर्व मंत्री शैलेन्द्र यादव ललई ने कहा कि भाजपा सरकार, सरकारी एजेंसियों का गलत इस्तेमाल कर रही है। जनता सब देख रही है। जो भी एजेंसियों का गलत इस्तेमाल करेगा। जनता उसे हरा देगी। जनता भाजपा को सत्ता के दुरूपयोग की सजा देगी। कहा कि समाजवादी पार्टी की रणनीति इंडिया गठबंधन को मजबूत करने की है। इंडिया गठबंधन पीडीए के रास्ते पर चलकर मजबूत होगा। इंडिया गठबंधन भाजपा को हराएगा। उन्होंने कहा कि भाजपा हटेगी तो संविधान और लोकतंत्र बचेगा। 
उन्होंने कहा कि समाजवादियों की लड़ाई पिछड़े, दलित, अल्पसंख्यकों को संवैधानिक अधिकार दिलाने के लिए हैं। जातीय जनगणना की मांग कर रहे हैं। जातीय जनगणना से ही सामाजिक न्याय मिलेगा। सामाजिक न्याय का रास्ता जातीय जनगणना से निकलता है, जातीय जनगणना हर हालत में होनी चाहिए। धरनें मे मुख्य रूप से विधायक पंकज पटेल, पूर्व विधायक लालबहादुर यादव, राजबहादुर यादव, कांग्रेस जिला अध्यक्ष फैसल हसन तबरेज,का जय प्रकाश सिंह एडवोकेट, ऊदल यादव, राहुल त्रिपाठी इरशाद मंसूरी हीरालाल विश्वकर्मा राजेंद्र टाइगर, राजेश यादव विवेक रंजन राजन यादव, सुशील चन्द्र, मेवा लाल गौतम, संजय सरोज, अनील दूबे,भानु मौर्य गुड्डू सोनकर, शिवजीत, दिलीप प्रजापति आशुतोष मौर्य रामू मौर्य, रुक्सार अहमद, मनोज मौर्य, राकेश अहिर,राजकुमार बिन्द, दीपचंद राम,विरेन्द्र यादव, सालिकराम पटेल, सुभाष पटेल,पंकज मिश्रा, राममूर्ति सरोज राहुल यादव,संजीव साहू,सहित काफी संख्या में गंठबंधन के लोग मौजूद रहे संचालन निवर्तमान महासचिव अखण्ड प्रताप यादव के ने किया ।।

Comments

Popular posts from this blog

डीएम जौनपुर ने चार उप जिलाधिकारियों का बदला कार्यक्षेत्र जानें किसे कहां मिली नयी तैनाती देखे सूची

पुलिस भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले में जौनपुर की अहम भूमिका एसटीएफ को मिली,जानें कहां से जुड़ा है कनेक्शन

जौनपुर में आधा दर्जन से अधिक थानाध्यक्षो का हुआ तबादला,एसपी ने बदला कार्य क्षेत्र