देश में इंडी गठबंधन के नाम पर जनता को गुमराह किया जा रहा है: गिरीश चंद्र यादव


जौनपुर। प्रदेश के राज्य मंत्री स्वतंत्रत प्रभार गिरीश चंद्र यादव ने मंगलवार को जौनपुर स्थित एक तंदूरीवाला होटल मे आयोजित प्रेसवार्ता में कहा कि, पूरे देश में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की लहर है, यूपी में एकतरफ़ा लहर है। प्रथम चरण का नामांकन ख़त्म हो चुका है, दूसरे चरण का नामांकन चल रहा है, पूरे प्रदेश में माहौल भगवामय, भाजपामय और मोदीमय है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के गरीब कल्याण के कार्यों के कारण मोदी के प्रति जनता के मन में विश्वसनीयता घर कर गई है। गरीब के जीवन स्तर में सुधार आया है वे ग़रीबी से निकल रहे हैं। मोदी जी के नेतृत्व में इस बार 400 पार का आँकड़ा बीजेपी अवश्य पार करेगी क्योंकि अबकी बार जनता फिर से मोदी जी को चुनने का मन बना चुकी है।
उन्होंने आगे कहा कि इंडी गठबंधन गुमराह कर रहा है। रामलीला मैदान में भ्रष्टाचार के भाई-चारे का डेली सोप देखा होगा। हमने देखा कि भ्रष्टाचारी किस घमंड से अपने भ्रष्टाचार को जस्टिफाई कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कहते हैं कि भ्रष्टाचार हटाओ मगर इंडी गठबंधन के नेता कहते हैं कि भ्रष्टाचारी को बचाओ। इंडी गठबंधन के नेता प्रधानमंत्री मोदी जी पर चाहे कितने भी हमले कर लें, प्रधानमंत्री मोदी रुकने वाले नहीं है। प्रधानमंत्री मोदी के लिए देश की 140 करोड़ जनता उनका परिवार है, और मोदी जी अपने परिवार को भ्रष्टाचारियों से बचाने की लड़ाई लड़ रहें हैं।
उन्होंने आगे कहा कि जिसने देश को लूटा है, उसे तो लौटाना ही पड़ेगा, ये मोदी की गारंटी है। ये घोटालेबाजों की बारात है जहां सब देश को लूटना चाहते हैं और यह भी चाहते हैं कि उनके भ्रष्टाचार पर चर्चा न हो। मतलब घोटाला अपना हर रोज बड़े चाव से करते हैं वो और ये भी चाहते हैं कि कोई एक्शन भी न हो ये गठबंधन, जनबंधन नहीं, ठगबंधन है।
उन्होने आगे कहा कि कांग्रेस-आम आदमी पार्टी दिल्ली में तो इलू-इलू कर रही है लेकिन पंजाब में हम आपके हैं कौन हो रहा है। पश्चिम बंगाल में ममता ने साथ में लड़ने से इनकार कर दिया। बिहार में आरजेडी ने अपने उम्मीदवार पहले घोषित कर दिए। महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे ने अपने उम्मीदवार पहले घोषित कर दिए। कांग्रेस और आम आदमी पार्टी छोड़ कर सांसद और विधायक जा रहे हैं। उत्तर प्रदेश में कांग्रेस को कोई भाव नहीं दे रहा। इनके नेता देश तोड़ने की बात करते हैं लेकिन उस पर एक्शन की बजाय लोकसभा का टिकट देते हैं। ये देश की शक्ति का अपमान करते हैं लेकिन सब चुप रहते हैं। ये शाहजहां शेख जैसे अपराधी पर चुप रहते हैं। ये हिंदू देवी-देवताओं के अपमान पर चुप रहते हैं। ये झूठे आरोप लगाते हैं लेकिन बाद में माफी मांगते हैं।
उन्होंने कहा कि इनके नेताओं के चेहरे देखिये, हर एक चेहरे पर घोटाले और भ्रष्टाचार का काला धब्बा है।जेल में बंद नेताओं को कोर्ट भी जमानत नहीं दे रही है। सत्येन्द्र जैन, मनीष सिसोदिया, संजय सिंह को कोर्ट जमानत नहीं दे रही है। केजरीवाल और हेमंत सोरेन को भी जमानत नहीं मिल पा रही है। कांग्रेस को इनकम टैक्स की रिकवरी नोटिस को हाईकोर्ट भी सही ठहरा चुका है। आज कल देश में विपक्षी पार्टियों द्वारा भ्रष्टाचार को मैडल की तरह पेश करने का फैशन चल पड़ा है। उनका भ्रष्टाचार ही उनका शिष्टाचार बन गया है। मामला कोर्ट में हो, तब भी इन सबको चिल्लाना है। कोर्ट में दलीलें काम नहीं आती तो बाहर में हल्ला मचाते हैं। प्रदेश में इंडी गठबंधन के पार्टनर्स में कांग्रेस का शीर्ष नेतृत्व 5000 करोड़ रुपये के घोटाले में जेल से बेल पर चल रहा है। जीप घोटाले से लेकर हेलिकॉप्टर घोटाले तक और देश के लोकतंत्र को बदनाम करने से लेकर चीन की सत्तारूढ़ पार्टी से  MOU साइन करने तक इन पर आरोप लगे हुए हैं और मजा ये कि ये गर्व से इसे बताते नहीं थकते। दूसरे पार्टनर समाजवादी पार्टी को सब जानते हैं कि किस तरह से प्रदेश को गर्त में धकेला है। इन्होंने यूपी को भ्रष्टाचार प्रदेश और दंगा प्रदेश बनाया। इन्होंने प्रदेश के संसाधनों को लूटने का समाजवादी मॉडल विकसित कर रखा था। वन डिस्ट्रिक्ट वन माफिया इनकी मुख्य नीति थी।
उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता मोदी जी को तीसरी बार प्रधानमंत्री के रूप में देखना चाहती है। जनता किसी के भी झाँसे में आने वाली नहीं है। यूपी में 80 की 80 सीटें भाजपा की झोली मे जाएगी।
यूपी मे कांग्रेस को कोई भाव नहीं दे रहा है। इंडी गठबंधन की बात करने वाली कांग्रेस पर आकाश से लेकर पाताल तक और आजादी से लेकर आज तक घोटाले के आरोप हैं। सपा को सब जानते ही है कि उसके समय में भ्रष्टाचार चरम पर रहा। उनके परिवारवाद से भी यूपी की जनता पीड़ित रही। ये देश की शक्ति का अपमान करते हैं, लेकिन सब चुप रहते हैं। रामचरित्र मानस, हिंदू देवी-देवताओं पर चुपी साधे रहते हैं। कहा कि जेल में बंद सत्येंद्र जैन, मनीष सिसौदिया व संजय सिंह को कोर्ट जमानत नहीं दे रही है। केजरीवाल कोर्ट के आदेश पर रिमांड पर हैं। आप पार्टी पर सवाल करते हुए उन्होंने कहा कि बताएं कि क्या सुनीता केजरीवाल अब अघोषित रूप से दिल्ली की मुख्यमंत्री हैं। हलांकि कि भ्रष्टाचार के मुद्दे पर जब मीडिया के लोगो ने घेरने का प्रयास किया तो मंत्री जी बचते हुए जबाव देने से परहेज कर गये। वार्ता के दौरान जिलाध्यक्ष पुष्पराज सिंह, पूर्व विधायक सुरेन्द्र प्रताप सिंह भी मौजूद रहे।

Comments

Popular posts from this blog

बाहुबली नेता एवं पूर्व विधायक के परिवार जनों पर फिर मारपीट और छेड़खानी का मुकदमा हुआ दर्ज, पुलिस जांच पड़ताल में जुटी

सपा ने जारी किया सात लोकसभा के लिए प्रत्याशियों की सूची,जौनपुर से मौर्य समाज पर दांव,बाबू सिंह कुशवाहा प्रत्याशी घोषित देखे सूची

भाजपा के प्रत्यशियो की दसवीं सूची जारी, मछलीशहर से भी प्रत्याशी घोषित देखे सूची