पुलिस ने एक बार फिर पूर्व सांसद धनन्जय सिंह के अपराधिक इतिहास को चर्चा का बिषय बनाया है,


जौनपुर । जनपद में कारदायी संस्था सीवर ट्रीटमेंट प्लांट के प्रोजेक्ट मैनेजर अभिनव सिंघल के मामले को लेकर एक बार फिर मीडिया की सुर्खियों में आये  पूर्व सांसद एवं बाहुबली नेता धनन्जय सिंह को  लेकर जनपद की पुलिस ने उनके अपराधिक इतिहास की चर्चा कर दिया है।  पुलिस विभाग द्वारा जारी सरकारी सूचना के मुताबिक अब तक धनन्जय सिंह के उपर कुल 38 जघन्य अपराधों से संबंधित जनपद जौनपुर से लगायत प्रदेश एवं देश की राजधानी तक के थानों पंजीकृत हुए है । सूत्र की माने तो अब तक 23 मुकदमों  में दोष मुक्त हो चुके हैं। 
 हलांकि वर्तमान समय में पूर्व सांसद धनन्जय सिंह सीवर ट्रीटमेंट प्लांट के प्रोजेक्ट मैनेजर अभिनव सिंघल के तहरीर पर दर्ज मुकदमा अपराध संख्या 142 /20 धारा  364 , 386, 504, 506 आई पी सी  एवं 120 बी में  जेल की सलाखों के पीछे कैद है। 
                 (जेल जाते पूर्व सांसद )
पुलिस का मानना है कि धनन्जय सिंह जनप्रतिनिधि बनाने से पहले अपराधिक पृष्ठभूमि के व्यक्ति थे। इनके उपर सन्  1991 मे पहला अपराधिक मुकदमा अपराध संख्या 628/91 धारा 143, 504, 506, 427 आई पी सी से  दर्ज हुआ था।  इसके बाद अपराध की दुनियां में कदम बढाने के साथ ही  सन् 2002 में धनन्जय सिंह जिले की रारी विधानसभा क्षेत्र से विधायक चुने गये। जन प्रतिनिधि बनने के साथ जघन्य अपराधों की ओर रुख किया तो पीछे मुड़ कर नहीं देखा और अपराधिक गतिविधियों के कारण  इनके उपर हत्या के प्रयास यानी 307,  गैगेस्टर, हत्या यानी 302, 304 आई पी सी एवं 120 बी  आदि तमाम धाराओं के मुकदमे दर्ज होते रहे हैं।  इसी बीच  2009में  धनन्जय सिंह बसपा के टिकट पर अपने बाहुबल की ताकत पर जौनपुर संसदीय क्षेत्र से सांसद भी बन गये इसके बाद इनके अपराध का कारवां और तेज रफ्तार पकड़ लिया हत्या जैसे जघन्य अपराध के कई मुकदमे इनके उपर दर्ज किये गये। जेल जाना आना इनके लिए आम बात थी। 
  (धनन्जय सिंह के उपर दर्ज मुकदमों की सूची) 
हलांकि 2009 के बाद धनन्जय सिंह को जनपद की जनता ने किसी भी चुनाव में नहीं जिताया  नहीं किसी राजनैतिक दल ने अपने बैनर तले टिकट ही दिया  इसके बाद भी अपने दबंगयी के दम पर अपने समर्थकों के बीच खासे लोकप्रिय बने रहे। 
पुलिस के रिकार्ड के अनुसार धनन्जय सिंह के उपर जौनपुर के थाना सिकरारा, बक्शा,  लाईन बाजार,  कोतवाली सदर, केराकत,  खुटहन  सहित लखनऊ के आधा दर्जन थानो में इनका अपराधिक इतिहास दर्ज है।  यही नहीं सांसद रहते हुए दिल्ली के थाने में इनके उपर हत्या, अपहरण आदि संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज है जो न्यायालय में विचाराधीन भी है। अब नया मामला सीवर ट्रीटमेंट प्लांट के प्रोजेक्ट मैनेजर अभिनव सिंघल के द्वारा थाना लाईन बाजार में दर्ज कराये गये मुकदमे में पूर्व सांसद धनन्जय सिंह के अपराध की कुन्डली पुलिस ने सार्वजनिक करते हुए न्यायालय में प्रस्तुत करने की तैयारी में है। हलांकि पूर्व सांसद का कहना है हमे साजिसन फर्जी मुकदमे में फंसाया गया है लेकिन  असलियत का खुलासा तो  जांचोपरान्त ही हो सकेगा। घटना की विवेचना जारी है।

Comments

Popular posts from this blog

डीएम जौनपुर ने चार उप जिलाधिकारियों का बदला कार्यक्षेत्र जानें किसे कहां मिली नयी तैनाती देखे सूची

पुलिस भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले में जौनपुर की अहम भूमिका एसटीएफ को मिली,जानें कहां से जुड़ा है कनेक्शन

जौनपुर में आधा दर्जन से अधिक थानाध्यक्षो का हुआ तबादला,एसपी ने बदला कार्य क्षेत्र