आधार आधारित ई केवाईसी वाला इंस्टेंट पैन सेवा शुरू




नई दिल्ली:  आज वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आधार आधारित ई-केवाईसी वाला इस्टेंट पैन सेवा की शुरुआत की। बता दें कि इस बात की घोषणा पहले ही बजट 2020 में की गई थी। इसके तहत आधार कार्ड धारकों को ई-केवाईसी की मदद से तुरंत पैन कार्ड जारी किया जाएगा। अब यह सुविधा उन सभी खाता संख्या आवेदकों के लिए उपलब्ध है, जिनके पास वैध आधार संख्या और यूआईडीएआई डेटाबेस में रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर है।

आवेदन करने की प्रक्रिया बेहद सरल

इस बारे मे विभाग ने कहा कि भले ही इसकी शुरुआत आज की गए हो लेकिन फरवरी से ही बीटा वर्जन का ट्रायल बेसिस इनकम टैक्स की ई फाइलिंग वेबसाइट में इस्तेमाल हो रहा है। मंत्रालय की तरफ से जारी प्रेस नोट के अनुसार तत्काल पैन कार्ड के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया बेहद सरल है। आयकर विभाग की ई-फाइलिंग वेबसाइट पर जाएं, अपना आधार नंबर साझा करें और आधार पंजीकृत मोबाइल नंबर पर उत्पन्न ओटीपी जमा करें।

इस प्रक्रिया के पूरा होने पर आपके मोबाईल पर 15 अंकों वाला एकनॉलेजमेंट नंबर जेनरेट होगा, जिसके बाद ई-पैन कार्ड डाउनलोड किया जा सकता है। एक बार आवंटित होने के बाद, ई-पैन कार्ड पोर्टल से डाउनलोड किया जा सकता है। आधार के साथ पंजीकृत होने पर ई-पैन आवेदक की ईमेल आईडी पर भी भेजा जाता है।

30 जून 2020 तक पैन कार्ड को आधार से लिंक करना अनिवार्य

25 मई को आयकर विभाग की ओर से एक बयान में कहा गया कि अभी तक करदाताओं को कुल 50.52 करोड़ पैन कार्ड आवंटित किए गए हैं, जिनमें से लगभग 32.17 करोड़ से अधिक आधार के द्वारा प्रमाणित हैं। 30 जून 2020 तक अपने पैन कार्ड को आधार से लिंक करना अनिवार्य है।

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद