डीएम समेत सैकड़ों अधिवक्ताओं ने बार अध्यक्ष स्व हरिश्चंद्र यादव को दी श्रद्धांजलि



अध्यक्ष के निधन पर न्यायिक कार्यो से विरत रहेंगे दो दिन अधिवक्ता

जौनपुर। कलेक्ट्रेट अधिवक्ता समिति  के अध्यक्ष 66 वर्षीय हरिश्चंद्र यादव के ब्रेन हैमरेज से निधन के बाद बुधवार की सुबह  उनका पार्थिव शरीर कलेक्ट्रेट प्रांगण में लाया गया। 
यहां कलेक्ट्रेट बार अधिवक्ता समिति के महामंत्री आनंद कुमार मिश्र की अगुवाई में उपस्थित डी
जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा, एडीएम वित्त एवं फाइनेंस रामप्रकाश, अपर जिलाधिकारी आर के द्वेवेदी, अपर पुलिस अधीक्षक सिटी डॉ संजय कुमार,  उप संचालक चकवन्दी एसएन मिश्र सहित तमाम अधिकारियों एवं अधिवक्ताओ में कलेक्ट्रेट अधिवक्ता संघ के पूर्व अध्यक्ष जगत नारायण तिवारी, विजय प्रताप सिंह, महेन्द्र प्रताप सिंह, उदय प्रताप सिंह, पूर्व महामंत्री बृजेश कुमार यादव, जयंती प्रसाद मिश्रा समेत सैकड़ों अधिवक्ताओं ने स्व हरिश्चंद्र अध्यक्ष को पुष्प अर्पित कर अपनी श्रंद्धाजलि दी। 
अधिवक्ता संघ के उपाध्यक्ष सुरेंद्र कुमार श्रीवास्तव के अध्यक्षता में हुई शोकसभा में दो मिनट का मौन रख कर 9 और 10 जून को सभी अधिवक्ता न्यायिक कार्य से विरत रहने का फैसला लिया है। बाद में अध्यक्ष के पार्थिव शरीर को अधिवक्ताओं के साथ अपर जिलाधिकारी राजकुमार द्वेवेदी  जिला प्रशासन के प्रतिनिधि के रूप में रामघाट पर भी गए।   श्रद्धांजलि देने वालों में कलेक्ट्रेट बार के रामकृष्ण पाठक, वीरेंद्र श्रीवास्तव, ओमप्रकाश सिंह, बृजमोहन शुक्ला, अभय कुमार, जिलेदार सिंह , रामचंद्र पाठक, संदीप सिंह समेत भारी संख्या में अधिवक्ता शामिल रहे। वहां  मृतक अधिवक्ता के  छोटे पुत्र ने शव को  मुखाग्नि दी।
इस संबंध में बार के महामंत्री आनंद कुमार मिश्र ने बताया कि 10 जून को कलेक्ट्रेट सभागार में
 श्रंद्धाजलि सभा का आयोजन किया गया है।
अन्तेष्ठि स्थल राम घाट पर पहुंचकर शोक संवेदना जताने वालों में सांसद जौनपुर श्याम सिंह यादव, कर्मचारी नेता शिव मोहन सिंह नवाब, प्रमोद यादव, आशीष त्रिपाठी, शैलेंद्र विक्रम सिंह के  साथ अन्य लोग उपस्थित रहे और अपनी संवेदना व्यक्त किये। 

 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा ने पहले फेज के चुनाव हेतु प्रत्याशियों की जारी की सूची इन लगाया दांव

थाने में खड़ी गाड़ियां दीवान ने कबाड़ी को बेचीं, एसपी ने किया निलंबित, कबाड़ी भी गिरफ्तार

आइए जानते है मुन्ना बजरंगी के भाई को पुलिस ने क्यों किया गिरफ्तार