जगतगुरु रामभद्राचार्य के बयान से सियासत में आया भूचाल, यूपी सरकार को जानें क्यों कहा सोशल मीडिया की सरकार



जगदगुरु रामभद्राचार्य ने पहली बार योगी सरकार के खिलाफ बयान दिया है। इसके साथ ही उन्होंने आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के डीएनए वाले से असहमति जताई है। दरअसल बुधवार को आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने जगदगुरु रामभद्राचार्य से मुलाकात की थी। इस दौरान उन्होंने जगदगुरु से कई मामलों पर बातचीत की। संघ प्रमुख के अलावा दत्तात्रेय होसबोले, चंपत राय और तुलसी पीठ आचार्य रामचंद्र दास भी मौजूद थे। जगदगुरु रामभद्राचार्य ने यूपी की सरकार को सोशल मीडिया की सरकार बता दिया। उन्होंने प्रदेश की सरकार के कामकाज को लेकर असंतोष जाहिर किया। उन्होंने सरकार का कोई जमीनी आधार नहीं नजर आता है सिर्फ सोशल मीडिया तक ही सीमित है। लेकिन उन्होंने यूपी में फिर से बीजेपी की सरकार बनने की बात कही। आरएसएस प्रमुख से मुलाकात के बाद रामभद्राचार्य ने गोहत्या को पूरी तरह से रोकने की बात कही। जगदगुरु ने भागवत के बयान को गलत बताया। उनका कहना है कि मोहन भागवत का सभी भारतीयों का डीएनए एक ही होने वाली उचित नहीं है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ

सिद्दीकपुर में चला सरकारी बुलडोजर मुक्त हुई 08 करोड़ रुपए मालियत की सरकारी जमीन