पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने मुख्यमंत्री योगी को दी यह चेतावनी, कहा भाषा पर रखें नियंत्रण अन्यथा मिलेगा करारा जबाब


समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को चेतावनी दिया अपनी भाषा पर नियंत्रण रखें। हमारे और उनके बीच सियासत के मुद्दों पर विरोध हो सकता है लेकिन अगर वह हमारे पिता के बारे में कुछ कहेंगे तो फिर हम भी उन्हें मुंह तोड़ जवाब देंगे और उन्हें अपने पिता के बारे में भी सुनने के लिए तैयार रहना चाहिए। अखिलेश यादव ने ये बात मुख्यमंत्री योगी द्वारा की गई एक टिप्पणी के संदर्भ में कही है।
अखिलेश यादव आज शनिवार को मीडिया को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने लखनऊ में आयोजित किए जा रहे जिला पंचायत अध्यक्ष व ब्लॉक प्रमुखों के सम्मेलन पर कहा कि जिला पंचायत अध्यक्ष का सम्मान समारोह उन लोगों का सम्मान है जो बहनों के कपड़े फाड़ रहे थे। इन लोगों ने महिलाओं को अपमानित किया और रुपए के दम पर चुनाव जीते हैं।
उन्होंने कहा कि पंचायत चुनाव जिला अधिकारी और पुलिस अधीक्षक की मदद से व पैसे के दम पर जीता गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में इन दिनों दलित-पिछड़े और मुसलमानों को जेल भेजा जा रहा है। इसके लिए कौन जिम्मेदार है? यह सभी को पता है।
अखिलेश यादव ने एक बार फिर कहा कि सपा यूपी चुनाव में 400 सीटें जीतने की तैयारी कर रही है। उन्होंने कहा कि जनता में भाजपा के प्रति भारी गुस्सा है। चुनाव आने पर भाजपा की पराजय निश्चित है।अखिलेश यादव शनिवार को सपा कार्यालय में मीडिया को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि भाजपा के राज में किसान बहुत परेशान है। वो देश के लिए अन्न उपजाता है और विकास के लिए अपनी जमीन भी देता पर सरकार उसे ठीक तरह से मुआवजा नहीं देती है। यह दुख की बात है कि केंद्र व राज्य दोनों जगह भाजपा की सरकार होने के बावजूद किसान सबसे ज्यादा परेशान है।
अखिलेश यादव ने भाजपा द्वारा जिला पंचायत अध्यक्ष व ब्लॉक प्रमुखों का सम्मेलन आयोजित करने पर कहा कि लोकतंत्र के साथ इससे ज्यादा मजाक नहीं हो सकता। ये दोनों ही चुनाव जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षकों ने भाजपा को जितवाए हैं।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रातः काल तड़तड़ाई गोलियां, बदमाशों ने अखिलेश यादव की कर दिया हत्या,ग्रामीण जनों में घटना को लेकर गुस्सा

आज से लगातार 08 दिनों तक बैंक रहेंगे बन्द जानें इस माह में कितने दिवस होगे काम काज

यूपी के गांव में जमीनी विवाद खत्म करने के सरकार ने बनायी यह योजना,नहीं होगी मुकदमें की नौबत