खुली पोल अपनी बेटी के लिए कर दिया पर्चा लीक अब सलाखों के पीछे


वित्तीय सहायता प्राप्त जूनियर हाईस्कूल सहायक अध्यापक/प्रधानाध्यापक  चयन परीक्षा का पेपर आउट कराने में डॉ. केएन काटजू इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य राम नयन द्विवेदी को गिरफ्तार कर लिया गया। उनके साथ कॉलेज के अध्यापक अशोक तिवारी को भी पकड़ा गया है। जबकि वाइस प्रिंसिपल आकाश खरे समेत चार लोगों को इसी मामले में नामजद किया गया है। उनकी तलाश की जा रही है। प्रधानाचार्य ने अपनी बेटी को नकल कराने के लिए व्हाट्सएप से पेपर आउट किया था। 
रविवार को शिक्षक चयन परीक्षा में पेपर आउट होने की आशंका को देखते हुए एसटीएफ को लगाया गया था। सर्विलांस से पता चला कि डॉ. केएन काटजू के प्रधानाचार्य राम नयन द्विवेदी ने अपने व्हाट्सएप से पेपर आउट कराया है। एसटीएफ और मजिस्ट्रेट तुरंत काटजू कॉलेज पहुंच गए। प्रधानाचार्य राम नयन द्विवेदी और साथ में मौजूद अध्यापक अशोक तिवारी के व्हाट्सएप चेक किए गए।
अशोक तिवारी के व्हाटसएप में में पेपर नौ बजकर 37 मिनट पर सेंड किया गया था। जबकि परीक्षा 10 बजे से होनी थी। दोनों को मौके से ही गिरफ्तार कर लिया गया। पूछताछ में पता चला कि प्रधानाचार्य राम नयन द्विवेदी की बेटी आकांक्षा द्विवेदी भी यह परीक्षा दे रही है। उसका सेंटर भारत स्काउट गाइड इंटर कॉलेज में था। राम नयन ने व्हाट्सएप के जरिए अपनी बेटी के लिए पेपर आउट किया था। उनके कहने पर ही अध्यापक अशोक तिवारी ने व्हाट्सएप से कॉलेज के वाइस प्रिंसिपल आकाश खरे तथा प्रिंसिपल के बेटे अनुग्रह द्विवेदी को पेपर भेजा था।
आकाश और अनुग्रह ने साल्वर वीरेंद्र कुमार से पेपर साल्व कराया था। एसटीएफ के डिप्टी एसपी नवेंदु सिंह ने बताया कि इस बात की जांच की जा रही है कि आकांक्षा द्विवेदी तक साल्व पेपर पहुंचा कि नहीं। फिलहाल इस मामले में वाइस प्रिंसिपल आकाश खरे, प्रिंसिपल के बेटे अनुग्रह द्विवेदी, बेटी आकांक्षा द्विवेदी और साल्वर वीरेंद्र कुमार को भी नामजद कर उनकी तलाश की जा रही है। 
पेपर आउट होने की सूचना पर सूचना पर एसटीएफ की टीम मजिस्ट्रेट और सेंटर आब्जर्वर के साथ पहुंची तो सबसे पहले प्रिंसिपल राम नयन और अध्यापक अशोक तिवारी के मोबाइल चेक किए गए। प्रिंसिपल ने अपने व्हाट्सएप से कन्वर्सेशन डिलीट कर दिया था। एसटीएफ ने तुरंत रिकवरी एप से पेपर के फोटो ढूंढ निकाले। बाद में मोबाइल की गैलरी से भी फोटो मिल गई थी। 
पकड़े गए आरोपी
1-राम नयन द्विवेदी (प्रधानाचार्य), प्रीतम नगर धूमनगंज
2-अशोक तिवारी (अध्यापक), प्रीतम नगर, धूमनगंज
फरार आरोपी 
1-आकाश खरे (वाइस प्रिंसिपल), 
2-अनुग्रह सिंह (प्रिंसिपल का बेटा), प्रीतम नगर, धूमनगंज
3-आंकाक्षा द्विवेदी (प्रिंसिपल की बेटी), प्रीतम नगर, धूमनगंज
4-वीरेंद्र कुमार (साल्वर), 
परीक्षा नियामक प्राधिकारी के सचिव संजय कुमार उपाध्याय के अनुसार प्रयागराज में पेपर आउट कराने के प्रयास में काटजू इंटर कॉलेज के प्रिंसिपल को गिरफ्तार किया गया। वहीं आगरा में शिवालिक कैंब्रिज कालेज में परीक्षार्थी भुवनेश्वर सिंह राणा के स्थान पर परीक्षा दे रहे साल्वर को पकड़ा गया।


Comments

Popular posts from this blog

21 अप्रैल को जौनपुर पहुंच कर लोकसभा क्षेत्र में चुनाव प्रचार का आगाज करेंगे बाबू सिंह कुशवाहा, जाने क्या है पूरा कार्यक्रम

पूर्व सांसद धनंजय सिंह के प्राइवेट गनर को गोली मारकर हत्या इलाके में कोहराम पुलिस छानबीन में जुटी

तेज रफ्तार का कहर: पेड़ से टकराई कार तीन के दर्दनाक मौत