टीचिंग लर्निंग, रिसर्च एवं रिसोर्स समेत कई ‌बिंदुओं पर हुई चर्चा


जौनपुर। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय परिसर के इंजीनियरिंग संकाय के विश्वेश्वरैया हाल में एनआईआरएफ रैंकिंग प्राप्त करने के लिए की जा रही तैयारियों के संदर्भ में कोविड प्रोटोकाल का पालन करते हुए मंगलवार को एक बैठक आहूत की गई। बैठक की अध्यक्षता एनआईआरएफ समिति के संयोजक प्रोफेसर राम नारायण द्वारा की गई। एनआईआरएफ रैंकिंग के लिए बनाए गए प्रारूप के छह बिंदुओं टीचिंग लर्निंग एवं रिसोर्स, रिसर्च एवं प्रोफेशनल प्रैक्टिसेज, ग्रेजुएशन आउटकम्स आउटरीच इंक्लूजिविटी एंड परसेप्शन के विभिन्न आयामों पर चर्चा हुई ।‌ इन बिंदुओं का पावर प्वाइंट प्रस्तुतीकरण रज्जू भैया संस्थान के वैज्ञानिक डॉ सुजीत कुमार चौरसिया द्वारा किया गया । बैठक में परिसर के सभी संकाय अध्यक्ष, विभागाध्यक्ष  एवं अन्य शिक्षक गण उपस्थित रहे। उक्त उद्देश्य से छात्रों द्वारा लिए जाने वाले फीडबैक फॉर्म के विभिन्न बिंदुओं पर डॉ अनु त्यागी द्वारा चर्चा की गई। एनआईआरएफ समिति के सदस्यों डॉ मनीष कुमार गुप्ता,  डॉ मनीष प्रताप सिंह,  विजय बहादुर मौर्य,  मंगला प्रसाद एवं  सुशील कुमार एनआईआरएफ की तैयारियों को लेकर प्रयासरत हैं। प्रस्तुतिकरण में बताया गया की यदि किसी शिक्षक को प्रपत्र भरने में किसी प्रकार की दुविधा आ रही है उसका निराकरण किया गया जितने भी शिक्षक मौजूद थे उन्होंने अपने शंकाओं के लिए प्रश्न किए और उनका समाधान समिति द्वारा सुझाए गए। बैठक का संचालन डॉ राजकुमार ने करते हुए बताया कि पूर्वांचल विश्वविद्यालय एनआईआरएफ में ग्रेडिंग प्राप्त करने के लिए प्रयासरत है। इसकी सभी प्रक्रिया पर विश्वविद्यालय एआईआरएफ के सदस्य गंभीरता से विचार कर रहे हैं और उसे पूरी तरह फॉर्मेट में भरने का प्रयास कर रहे हैं, ताकि उनकी और विश्वविद्यालय संबंधी कोई भी कमी या जानकारी छूट न जाए। एनआईआरएफ समिति के सदस्य संतोष कुमार द्वारा धन्यवाद ज्ञापन किया गया। बैठक में प्रोफेसर बीबी तिवारी, प्रो.देवराज सिंह, प्रो. अशोक कुमार श्रीवास्तव, डॉ रजनीश भास्कर, डॉ आशुतोष कुमार सिंह, डॉक्टर सचिन अग्रवाल, महेंद्र प्रताप यादव, डॉक्टर मिथिलेश यादव, डॉक्टर दिनेश वर्मा, डॉ सुशील कुमार,  सत्यम उपाध्याय, विशाल यादव आदि शिक्षक उपस्थित थे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

अब से राशन मिलना बंद, पूरे 4 महीने के लिए लगी राशन पर रोक, जानें क्या है कारण

जौनपुर में शादी का झांसा देकर किशोरी से दुष्कर्म, मुकदमा दर्ज पुलिस जांच में जुटी

पूर्वांचल के रास्ते यूपी में जानें कब प्रवेश कर सकता है मानसून, भीषण गर्मी से मिलेगी निजात