विकास योजनाओ की समीक्षा के दौरान इन विभागो अधिकारियों को डीएम ने जानें क्यों लगाई कड़ी फटकार



जौनपुर । जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में शासन की प्राथमिकता से संबंधित विकास कार्यक्रमो की समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई। 
बैठक में गो-आश्रय स्थलों की समीक्षा करते हुए मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को निर्देश दिया कि अधिकारियों के द्वारा महीने में 02 बार गो-आश्रय स्थलों का निरीक्षण किया जाए। उन्होंने भूसा टेंडर, केयर टेकर एवं सहभागिता योजना की जानकारी ली और कहा कि आश्रय स्थल पर किसी भी प्रकार की समस्या न रहे। निर्माणाधीन गोआश्रय स्थलों को समीक्षा के दौरान पाया कि पीडब्ल्यूडी एवं आरईएस के कार्य धीमी गति से हो रहे है, जिस पर नाराजगी व्यक्त करते हुए स्पष्टीकरण जारी करने के निर्देश दिया और कहा कि तेजी लाये अन्यथा विभागीय कार्यवाही की जाएगी। 
सफाई कर्मचारियों की उपस्थिति के लिए जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देश दिया कि पंचायत सहायकों के सहयोग से उपस्थिति सुनिश्चित की जाए। उन्होंने निर्देश दिया कि जिला स्तरीय अधिकारी गाँव में भ्रमण करे और गांव की साफ सफाई देखे और रिपोर्ट दे। सभी अधिशासी अधिकारियों को निर्देश दिया कि अभियान चलाकर मलिन बस्तियों की साफ-सफाई की जाये, कही भी जलजमाव की स्थिति न रहें। 
स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा करते हुए निर्देश दिया कि अस्पतालों में दवाओं की उपलब्धता बनी रहे, कोई भी दवा बाहर से न लिखी जाएं। चिकित्सको की उपस्थिति बायोमेट्रिक से ली जाए।  अस्पताल में मरीजों से अच्छा व्यवहार किया जाए और उनके लिए  आधारभूत सुविधा  की उचित व्यवस्था रहे। 
  जिलाधिकारी महोदय द्वारा राशन वितरण की समीक्षा   की गई और जिला पूर्ति अधिकारी को निर्देश दिया कि अभियान चलाकर अगले 02 दिन में गाँव मे दिव्यांग, विधवा, भूमिहीन परिवारों का राशन कार्ड बनवाया जाए और अपात्रों का नाम काटकर पात्र लाभार्थियों का नाम दर्ज कराया जाए। उन्होंने कहा कि सभी ग्राम पंचायतों में एक रजिस्टर अवश्य बन जाये जिसके प्रत्येक परिवार के द्वारा ली जा रही सुविधाओं को अंकित किया जाए। 
 आयुष्मान कार्ड के बनाने में तेजी लाने के निर्देश जिलाधिकारी के द्वारा मुख्य चिकित्सा अधिकारी को दिए गए। सामुदायिक शौचालय के सम्बंध में निर्देश दिया कि जितने भी शौचालय बन गए है, शत-प्रतिशत उपयोग में आए। 
 मुख्यमंत्री सामुहिक योजना में 151 शादियो का लक्ष्य मिला है जिसके सम्बन्ध में जिला समाज कल्याण अधिकारी को निर्देश दिया कि  अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार कराये। पंचायत भवनों में  लेखपाल, सचिव, एएनएम, आशा, आंगनबाड़ी, ग्राम प्रधान बैठे और सबका रोस्टर चस्पा कर दिया जाए। 
जिलाधिकारी ने सभी विभागाध्यक्षो को निर्देश दिया कि राज्यवार प्रगति में जनपद अच्छे जनपदों को श्रेणी में रहे अन्यथा की स्थित में प्रतिकूल प्रविष्टि देने की कार्यवाही की जाएगी।
 इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अनुपम शुक्ला, जिला विकास अधिकारी बीबी सिंह, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 लक्ष्मी सिंह, दिव्यांगजन कल्याण अधिकारी दिव्या शुक्ला, समाज कल्याण अधिकारी सुनील कुमार, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा0 राजेश कुमार सहित अन्य जिलास्तरीय अधिकारीगण उपस्थित रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ

सिद्दीकपुर में चला सरकारी बुलडोजर मुक्त हुई 08 करोड़ रुपए मालियत की सरकारी जमीन