अग्निपथ योजना के विरोध : अग्नि ने रोका पथ, जली सरकारी सम्पत्तियां, हुए पथराव, चरमराई कानून व्यवस्था


जौनपुर। भारतीय सेना में चार साल की भर्ती प्रक्रिया के तहत केन्द्र सरकार की अग्निपथ योजना को लेकर देश के युवा देश भर में हंगामा मचाये हुए है। योजना के विरोध की आंच अब जौनपुर पहुंच गयी और दूसरे दिन हिंसात्मक स्वरूप लेली है। शुक्रवार 17 जून 22 को जनपद में हिंसात्मक आन्दोलन की शुरुआत हुई और अग्निपथ योजना के खिलाफ दूसरे दिन आज शनिवार को आन्दोलन कारी युवाओ ने जनपद के अन्दर दो स्थानो पर तोड़फोड़ करते हुए आगजनी की घटना को अंजाम देकर आन्दोलन को हिंसात्मक बना दिया जिसमें कुछ सुरक्षा कर्मी भी घायल हुए है। 
मिली खबर के अनुसार आज सुबह लगभग 10 बजे के आसपास जौनपुर प्रयागराज मार्ग पर स्थित लालाबजार में बड़ी तादाद में युवाओ का हुजूम आन्दोलन के लिए सड़क पर उतरा और प्रयागराज से गोरखपुर को जा रही रोडवेज की बसो में तोड़फोड़ करते हुए दो बसो को क्षतिग्रस्त कर दिया और एक बस को आग के हवाले कर दिया। घटना की सूचना पर मौके पर पहुंची सिकरारा पुलिस को देखकर पथराव शुरू कर दिया जिसमें थानेदार सहित तीन पुलिस कर्मी को घायल होने की खबर है। 
यहां युवाओ के भीषण उत्पात की खबर आते ही डीएम और एसपी सहित जिले के सभी अधिकारी गण लालाबजार पहुंचे साथ ही पीएसी बल ने छात्रो को चारो तरफ से घेरा बन्दी किया तो आन्दोलनकारी छात्र मौके से फरार हो गये। लगभग डेढ़ घन्टे के बाद लालाबजार में स्थिति सामान्य हो सकी है।हलांकि घटनास्थल पर पीएसी का कड़ा पहरा चल रहा है। 
इसके अलांवा जिले के तहसील बदलापुर मुख्यालय पर अग्निपथ को लेकर आक्रोशित युवा छात्रो ने जमकर उत्पात मचाया और लखनऊ से वाराणसी को जा रही रोडवेज की दो बसो को तोड़कर बुरी तरह से क्षतिग्रस्त कर दिया है। यहा पर थाना बदलापुर की पुलिस एवं अधिकारी मौके पर गये तो उत्पात मचाने वाले छात्रो ने जम कर पथराव किया जिसमें पुलिस कर्मी घायल हो गये है। यहां पर भी पीएसी को मोर्चा संभालने के बाद छात्र मौके से निकल गये है। अब यहां पर भी पुलिस गश्तरत है और पहरा दे रही है।
इन दोंनो घटनाओ के बाद जिला एवं पुलिस प्रशासन ने जनपद के सभी रेलवे स्टेशनो और रोडवेज के बस अड्डो सहित सभी संवेदनशील स्थानो पर पुलिस और पीएसी का पहरा लगा दिया है। ताकि कोई और बड़ी बारदात न हो सके। हलांकि छात्रो द्वारा बवाल किये जाने के बाद खुद डीएम मनीष कुमार वर्मा एवं पुलिस अधीक्षक अजय कुमार साहनी ने मोर्चा सम्भालते हुए कानून व्यवस्था दुरुस्त करने में जुटे हुए है। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

इलाहाबाद हाईकोर्ट का ग्रामसभा की जमीन को लेकर डीएम जौनपुर को जानें क्या दिया आदेश

सिकरारा क्षेत्र से गायब हुई दो सगी बहने लखनऊ से हुई बरामद, जानें क्या है कहांनी

ज्वाइंट मजिस्ट्रेट ने दबंगो के कब्जे से मुक्त करायी 30 करोड़ रुपए कीमत की सरकारी जमीन