कार चालक को किराया न देने के आरोप में दरोगा जी हो गये लाइन हाजिर


जौनपुर। वर्दी के रौब में विभाग की किरकिरी कराने के मामले में एक बार फिर एसएसपी अजय कुमार साहनी ने कार्रवाई की है। उन्होंने सिंगरामऊ थाने पर तैनात सब इंस्पेक्टर गोरखनाथ शुक्ल को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। दारोगा पर कार मालिक को भाड़ा देने की बजाय गालियां देकर थाने से भगाने का आरोप जांच में सही पाए जाने पर यह कार्रवाई की। वाहन स्वामी ने एसएसपी को प्रार्थना पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई थी।
पीड़ित नारायण उपाध्याय निवासी मोढ़ैला वाराणसी ने एसएसपी को दिए गए प्रार्थना पत्र में कहा है कि वह आल इंडिया परमिट लेकर निजी स्विफ्ट डिजायर कार चलाकर परिवार का भरण-पोषण करते हैं। 24 जुलाई को रात करीब आठ बजे वह कार लेकर मोढ़ैला मोड़ पर सवारी का इंतजार कर रहे थे। उसी समय एसआइ गोरखनाथ शुक्ल वहां आए। सिंगरामऊ थाने छोड़ने के लिए 2200 रुपये भाड़ा तय कर कार बुक किया। जौनपुर पहुंचने पर शराब खरीदकर कार में ही बैठकर पी। सिंगरामऊ थाने पहुंचने के बाद भाड़ा मांगने पर गालियां देते हुए कार बंद कर देने और गोली मार देने की धमकी देकर भगा दिया। मामले को गंभीरता से लेते हुए एसएसपी ने एएसपी (ग्रामीण) शैलेंद्र सिंह को जांच कर रिपोर्ट देने को कहा। विभागीय जांच में आरोप सही पाए जाने पर थानाध्यक्ष कमलेश कुमार ने पे-फोन के माध्यम से नारायण उपाध्याय को 1500 रुपये बैंक खाते में भेज दिया। इसी दौरान ऐसा ही एक और भी मामला थानाध्यक्ष के सामने आ गया। उन्होंने उच्चाधिकारियों को पूरी रिपोर्ट दी। एएसपी (ग्रामीण) ने जांच रिपोर्ट एसएसपी को सौंपी। इसी पर यह कार्रवाई की गई। मामला विभाग में चर्चा का विषय बन गया है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मौसम विभाग का एलर्ट इन 23 जिलो में हवाओ के साथ होगी बरसात

दुर्गा पूजा पंडाल में लगी आग छ: की मौत 50 से अधिक झुलसे सभी बीएचयू ट्रामा सेंटर रेफर

खाकी वर्दी में घूम रहा नकली फर्जी, जालसाज इंस्पेक्टर गिरफ्तार, लड़क‍ियों की श‍िकायत