ईश्वर की मर्जी, बेटी की डोली उठने से पहले उठी गयी पिता की अर्थी, बिन बताए बरात हुई विदा


जौनपुर। ईश्वर की मर्जी के आगे किसी की नहीं चलती है। यह बात चरितार्थ हुई थाना
तेजी बाजार क्षेत्र स्थित आयर गांव में, इस गांव निवासी 70 वर्षीय देव नारायण मिश्र की बड़ी तमन्ना थी कि बेटी का कन्यादान करके दामाद के साथ विदा करेंगे। सुजानगंज में शादी तय हुई और सोमवार की रात बरात आई, कन्यादान भी किया, लेकिन बेटी को डाेली में बैठाकर विदा करने से पहले ही उनकी अर्थी उठ गई। गमगीन माहौल के बीच परिवार के लोगों ने बेटी को सूचना दिए बगैर ही डोली उठवा दी। बाद में पिता के शव को प्रयागराज ले जाकर अंतिम संस्कार किया।
अब ईश्वर की मर्जी कहें या फिर होनी। आयर गांव निवासी देव नारायण मिश्र कुछ दिनों से बीमार चल रहे थे। इसी बीच उन्होने अपनी बेटी रागिनी के लिए सुजानगंज में रिश्ता खोजा। 29 मई शादी की तारिख तय की गई। बरात आई, स्वागत हुआ, शादी की रश्म अदा की गई। कन्यादान हुआ और उसके बाद रागिनी की विदाई की तैयारी हो रही थी, तभी अचानक देव नारायण मिश्र को हार्ट अटैक आया और गिर पड़े। परिवार के लोग उन्हें लेकर बरईपार स्थित एक निजी अस्पताल गए, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। परिवार के अन्य सदस्य किसी तरह से बात तब तक छिपाए रहे जब तक रागिनी की विदाई नहीं हो गई। सुबह बेटी की विदाई करने के बाद देवनारायण मिश्र का शव लेकर लोग प्रयागराज गए, जहां अंतिम संस्कार किया गया। सुबह जब लोगों को घटना के बारे में पता चला तो पूरे गांव में मातमी सन्नाटा पसर गया।

Comments

Popular posts from this blog

बाहुबली नेता एवं पूर्व विधायक के परिवार जनों पर फिर मारपीट और छेड़खानी का मुकदमा हुआ दर्ज, पुलिस जांच पड़ताल में जुटी

सपा ने जारी किया सात लोकसभा के लिए प्रत्याशियों की सूची,जौनपुर से मौर्य समाज पर दांव,बाबू सिंह कुशवाहा प्रत्याशी घोषित देखे सूची

भाजपा के प्रत्यशियो की दसवीं सूची जारी, मछलीशहर से भी प्रत्याशी घोषित देखे सूची