बाहुबली नेता पूर्व सांसद पर चुनाव से पहले कानून का शिकंजा,भेजे गए जेल

जौनपुर। लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुटे जिले के बाहुबली नेता एवं पूर्व सांसद धनंजय सिंह के खिलाफ चुनाव की घोषणा के चन्द रोज पहले ही कानून ने अपना शिकंजा कस दिया है और न्यायिक हिरासत में लेकर जेल की सलाखों के पीछे भेज दिया है। धनंजय सिंह को जेल जानें की घटना वायरल होते ही उनके समर्थको में मायूसी और गुस्सा दोनो नजर आया है।
बता दे नमामि गंगे योजना के तहत जौनपुर में काम कर रहे प्रोजेक्ट मैनेजर अभिनव सिंघल ने विगत वर्ष 2020 में 10 मई को थाना लाइन बाजार में धारा 364, 386, 504 और 120(बी) का मुकदमा दर्ज कराते हुए बाहुबली नेता और पूर्व सांसद धनंजय सिंह सहित उनके साथी संतोष विक्रम सिंह के खिलाफ दर्ज कराया था।  मामले में पुलिस द्वारा चार्ज सीट न्यायालय भेजने के बाद मुकदमा शरद चन्द त्रिपाठी एडीजे चतुर्थ एमपी एमएलए कोर्ट में विचाराधीन था। इस मुकदमें गवाह आदि पक्ष द्रोही हो चुके थे।
लोकसभा चुनाव के सुगबुगाहट के साथ धनंजय सिंह के द्वारा चुनाव लड़ने के एलान से भाजपा खुद को असहज महसूस करने लगी थी। इधर कुछ दिनो से इस मुकदमे की सुनवाई तेज कर दी गई थी। आज मुकदमा उपरोक्त में तारिख निर्धारित थी। धनंजय सिंह कोर्ट में मौजूद थे।
दूसरे प्रहर अचानक न्यायाधीश ने पूर्व सांसद धनंजय सिंह और उनके साथी संतोष विक्रम सिंह को न्यायिक अभिरक्षा में ले लिया और अपने एक आदेश के तहत दोनो अभियुक्त धनंजय सिंह और संतोष विक्रम सिंह को अपराध कारित करने के लिए दोषी पाये जाने का आदेश देते हुए फैसले की तिथि 06 मार्च मुकर्रर कर दिया और दोनो को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है।
धनंजय सिंह को हिरासत में लेकर जेल भेजने की खबर वायरल होते ही उनके समर्थको में मायूसी छा गयी साथ ही लोगो में गुस्सा भी नजर आया है। सजा क्या होगी यह तो कल यानी छह मार्च को पता चलेगा। खबर है कि बाहुबल इस नेता को चुनाव लड़ने से रोकने की भी रणनीति न्यायाधीश के फैसले से की जा सकती है।

Comments

Popular posts from this blog

21 अप्रैल को जौनपुर पहुंच कर लोकसभा क्षेत्र में चुनाव प्रचार का आगाज करेंगे बाबू सिंह कुशवाहा, जाने क्या है पूरा कार्यक्रम

तेज रफ्तार का कहर: पेड़ से टकराई कार तीन के दर्दनाक मौत

हाईस्कूल एवं इन्टर बोर्ड की परीक्षा परिणाम घोषित,जौनपुर के इन सात बच्चो ने टापर सूची में शामिल होकर लहराया परचम