एक रात में दो हत्याओं से पुलिस की कार्य शैली पर बड़ा सवाल

जौनपुर । जनपद के केराकत सर्किल में बीती रात्रि को दो थाना क्षेत्र में घटित हत्या की घटनाओं ने जिले की कानून व्यवस्था पर एक बार पुनः सवाल खड़ा कर दिया है । हलांकि पुलिस ने दोनों घटनाओं में  अपराध करने वालों में  एक एक अपराधियों को गिरफ्तार कर अपनी पीठ थपथपा रही है लेकिन हत्या की घटनाओं ने पुलिस विभाग को सवालों के कटघरे में खडा कर दिया है ।
घटना के इस क्रम में  थाना चन्दवक क्षेत्र स्थित छोटकी कोइलारी गांव के निवासी  30 वर्षीय सुरेन्द्र सिंह  की गला काट कर हत्या कर दिया गया है । पुलिस के अनुसार इस घटना में  कोइलारी गांव के रबी सिंह  एवं अमरहा गांव के सोनम राजभर, तथा  संदीप राजभर ने  3 लाख रुपए के  लेन देन को लेकर इस हत्या की घटना  को अंजाम दिया है । अपर पुलिस अधीक्षक सिटी अनिल पाण्डेय ने  अपने बयान में कहा है कि  सुरेन्द्र सिंह के पिता अजय सिंह ने पहले गुमशुदगी का मुकदमा दर्ज कराया था  पुलिस उसी आधार पर छान बीन कर रही थी तो  सुरेन्द्र सिंह की लाश बरामद हुई है ।
दूसरी घटना केराकत कोतवाली क्षेत्र के थानागद्दी पुलिस चौकी के बम्बावन गांव के बगेरवा पुरवा की है  यहाँ पर  भाजपा कार्यकर्ता के घर तेरहवीं में शामिल होने केराकत आए हिंदू युवा वाहिनी के कार्यकर्ता के भाई लेखपाल की पुरानी रंजिश को लेकर गोली मारकर हत्या कर दी गई। मृतक के भाई की तहरीर पर पुलिस ने एक के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है।
 बीती रात को  भाजपा कार्यकर्ता बगेरवा पुरवा निवासी राजेंद्र प्रजापति के पिता की तेरहवीं थी। जिसमें रिश्तेदार मित्रों के साथ आसपास गांवों के लोग भी इकट्ठा हुए थे। राजेंद्र से मित्रता होने के चलते में आजमगढ़ के हिंदू युवा वाहिनी के मंडल अध्यक्ष अशोक प्रजापति निवासी देवगांव आजमगढ़ अपने तीन अन्य भाइयों के साथ  आये हुए थे। इसी कार्यक्रम में उनसे रंजिश रखने वाले श्लोक यादव गोपलापुर थाना देवगांव भी आए हुए थे। भोजन करने के बाद जब सभी लोग जाने लगे तो उसी दौरान श्लोक यादव ने पुरानी रंजिश से खुन्नस खाकर अशोक प्रजापति को लक्ष्य करके गोली चला दी। आगे होने की वजह से वह बच गए लेकिन उनके पीछे छोटे भाई 30 वर्षीय अनिल प्रजापति को गोली लग गई। गोली लगने से घायल अनिल जमीन पर गिरकर तड़पने लगा। आवाज सुनकर तेरहवीं में शामिल होने आये ग्रामीणों में भगदड़ मच गई। अानन-फानन में निजी वाहन से लोग अनिल को लेकर वाराणसी अस्पताल ले गये  जहां पर  चिकित्सक ने घायल अनिल को मृत घोषित कर दिया। इसकी सूचना मिलने पर कोतवाल बिंद कुमार और थानागद्दी चौकी प्रभारी श्रीप्रकाश राय भी मौके पर पहुंचकर मामले की छानबीन में जुट गए। शव को पुलिस कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। अनिल प्रजापति पेशे से लेखपाल रहा। जो चेंवार आजमगढ़ में पोस्टेड था। भाई की तहरीर पर पुलिस ने श्लोक यादव निवासी गोपालपुर थाना देवगांव के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।
इस तरह जनपद में घटित दोनों घटनाओं ने पुलिस की कार्य शैली पर बड़ा सवाल खड़ा कर दिया है । इन घटनाओं से पूरे इलाके में अपराधियों का खौफ कायम हो गया है

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

विधायक और सपा नेता के बीच मारपीट की घटना का जानें सच है क्या,आखिर जिम्मेदार के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं

स्वागत कार्यक्रम में सपाईयों के बीच मारपीट की घटना से सपा की हो रही किरकिरी

हलाला के नाम पर मुस्लिम महिला के साथ सामुहिक दुष्कर्म, मुकदमा दर्ज मौलाना फरार