अपने हितों की लड़ाई जारी रखते हुए प्रधान सरकार के विकास में करेगा सहयोग - डा. मनोज यादव जिलाध्यक्ष


सीडीओ के साथ मौजूद डीसी मनरेगा को मांग पत्र  देेत जिलाध्यक्ष प्रधान संगठन 


    जौनपुर।  जनपद में सरकार की महत्वाकांक्षी योजना मनरेगा का बहिष्कार करते हुए आन्दोलन की राह से वापस लौटे राष्ट्रीय पंचायती राज ग्राम प्रवाना संगठन के जिलाध्यक्ष डा. मनोज कुमार यादव के नेतृत्व में आज ग्राम प्रधानो ने  मुख्य विकास अधिकारी को पत्रक देते मांग किया है कि 
बीते दिवस जनपद में मनरेगा मजदूरी को लेकर ग्राम प्रधान साथियों के उपर दर्ज कराये गये फर्जी मुकदमों को वापस लिया जाए । क्योंकि मजदूरों को काम करने के बाद उनकी आर्थिक समस्या को ध्यान में रखकर प्रधान तत्काल अपने पास से मजदूरों को मजदूरी दे देता है बाद में सरकार जब कई माह बाद मनरेगा की मजदूरी देती है तो अपना दिया पैसा वापस लेता है।  साथ ही शिकायत कर्ता की शिकायत हलफनामा के साथ लिया जाए ताकि जांच के दौरान शिकायत झूठी साबित होने पर शिकायत कर्ता के विरुद्ध कार्रवाई किया जाये। 
मांग पत्र देने के पश्चात संगठन के जिलाध्यक्ष मनोज कुमार यादव मीडिया से रूबरू होते हुए कहा कि जनपद के सभी प्रधान साथी कमिश्नर वाराणसी से वार्ता के पश्चात अब मनरेगा का काम तो शुरू करा देगे लेकिन अपनी न्यायोचित समस्या को लेकर संघर्ष जारी रखेंगे। 
इस अवसर पर जिलाध्यक्ष के साथ संगठन के सभी अधिकृत ब्लाक अध्यक्ष चन्द्रभान यादव  रामनगर,  विनय कुमार सिंह रामपुर, सूर्यमणि यादव बरसठी  ,जय देवी पत्नी राजेश दूबे मुगराबादशापुर, रवीन्द्र यादव सुजानगंज, लालमन यादव महराजगंज, विनोद यादव बदलापुर, द्रौपती पत्नी राजन मिश्रा खुटहन, आलोक यादव  बक्शा, कमलेश तिवारी सुईथाकला, सुनील कुमार यादव करंजाकला, ग़यासुद्दीन शाहगंज, विनय मिश्रा  सिकरारा, बदामा देवी पत्नी लालचन्द यादव, गिरजा शंकर तिवारी जलालपुर, मनोज यादव सिरकोनी, शेष नरायन यादव मड़ियाहू, कमलेश यादव मुफ्तीगंज, कमलेश कुमार यादव  केराकत, दुर्गावती पत्नी धीरेन्द्र सिंह एवं महामंत्री बाके लाल यादव मौजूद रहे। 
अध्यक्ष मनोज कुमार यादव ने यह भी कहा कि उपरोक्त सभी संगठन के अधिकृत पदाधिकारी है।  कुछ लोग जन मानस के बीच में भ्रम फैला कर कथित पदाधिकारी बनने का कुचक्र रच रहे हैं ऐसे लोगों से सावधान रहने की जरूरत है । अन्त में फिर कहा कि हम विकास का करते हुए गरीबों मजदूरों को काम देगे साथ ही प्रधान हितों की लड़ाई भी लड़ते रहेंगे ।

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद