मरीज के लिये दवा के साथ धैर्य व साहस का होना आवश्यक - डा. अखिलेश सैनी



जौनपुर । जौनपुर स्थित वेदांता हॉस्पिटल केे संचालक डॉक्टर अखिलेश सैनी ने कहा है कि  वर्तमान महामारी को देखते हुये यदि किसी को कोई शारीरिक समस्या आती है तो सबसे पहले मन से यह निकाल दें कि आप महामारी की चपेट में आ गये हैं। अपने को धैर्य रखते हुए साहसी बनकर सबसे पहले कोरोना टेस्ट करायें, यदि कोरोना है तो सरकारी गाइडलाइन का पालन करते हुये चिकित्सक की सलाह पर निर्धारित दवा का सेवन करें। यदि कोरोना नहीं है तो सम्बन्धित बीमारी के विशेषज्ञ से सम्पर्क करते हुये उनके द्वारा बताये गये दवा का सेवन करें तथा इसमें लापरवाही नहीं एकदम होनी चाहिये। 
जौनपुर नगर स्थित नईगंज में स्थित वेदान्ता हास्पिटल के संचालक एवं हृदय, पेट, फेफड़ा, शूगर, थॉयराइड व टीबी रोग विशेषज्ञ डा. अखिलेश सैनी ने मीडिया जनों से एक अनौपचारिक भेंटवार्ता के दौरान कहा है। उन्होंने आगे कहा कि वर्तमान परिस्थिति को देखते हुये कोई भी शारीरिक समस्या आने पर चिकित्सक की सलाह पर दवा लें और यदि सम्भव हो तो घर पर ही रहें। बहुत आवश्यकता पड़ने पर ही अस्पताल जायं लेकिन धैर्य व साहस का परिचय देते हुये ही उपचार करायें। अन्त में एम.डी. फिजीशियन एवं डी.एम. डायबिटिज ने बताया कि बिना घबराये वर्तमान महामारी से आसानी से निकला जा सकता है लेकिन शारीरिक समस्या आने पर तत्काल विशेषज्ञ से सलाह अवश्य लें। 

टिप्पणियाँ

  1. डॉक्टर साहब आपने बिल्कुल सही कहा हैं। इसमे सबसे बड़ी बात ये हैं कि अगर आप कोरोना कोरोना पॉजिटिव हैं तो आपको धैर्य के साथ डॉक्टर से जरूर परामर्श जरूर ले। यह बीमारी कभी भी किसी को हो सकती हैं आप इससे घबड़ाये नही। आप यह सोच कर इलाज कराये की आपको एक सामान्य बीमारी हैं। धन्यवाद

    जवाब देंहटाएं

एक टिप्पणी भेजें

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ड्रेस के लिए बच्चे को पीटने वाला प्रिन्सिपल अब पहुंचा सलाखों के पीछे

14 और 15 दिसम्बर 21को जौनपुर रहेंगे सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव,जानें क्या है कार्यक्रम

ओमिक्रॉन से बढ़ी दहशत,पूर्वांचल के जनपदो में भी मिलने लगे संक्रमित मरीज,प्रशासनिक तैयारी तेजम