यूपी डीजीपी की रेस में इन आईपीएस के साथ जौनपुर मूल के आईपीएस अधिकारी है शामिल


 
वर्तमान डीजीपी हितेश अवस्थी 30 जून को हो जायेगे रिटायर 

यूपी में पुलिस महानिदेशक हितेश चन्द्र अवस्थी इसी महीने रिटायर होने जा रहे हैं। 30 जून को उनके रिटायर होने के बाद एक जुलाई को प्रदेश को नया डीजीपी मिल जाएगा। अभी इसे लेकर कुछ साफ नही है। लेकिन नए डीजीपी को लेकर कई वरिष्ठ पुलिस अधिकारी (IPS) इस रेस में हैं। डीजीपी हितेश चन्द्र अवस्थी को छह महीने का सेवा विस्तार होने की संभावना थी जो अब काफी कम दिख रही है। पुलिस महानिदेशक के पद सबसे ऊपर मुकुल गोयल का नाम है जो 1987 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। इस समय वह बार्डर सिक्यारिटी फोर्स (BSF) में एडीजी (ADG) के पद पर तैनात है। इसके बाद 1987 बैच के आरपी सिंह का नाम आता है जो आर्थिक अपराध शाखा और एसआईटी के पद पर तैनात है। वह काफी तेज तर्रार आईपीएस अधिकारी कहे जाते हैं और कुर्सी के प्रबल दावेदारों में है। कई घोटालों की जांच में उनकी महती भूमिका रही है। इसके साथ ही पावर कारपोरेशन पीएफ घोटाले समेत कई अन्य घोटालों की जांच कर्र सफेदपोशो को बेनकाब करने का काम किया है। 
इस रेस में जौनपुर मूल के निवासी 1988 बैच के आईपीएस अधिकारी आर के विश्वकर्मा (राज कुमार विश्वकर्मा ) भी डीजीपी की रेस में है जो काफी तेज तर्रार पुलिस अधिकारी माने जाते है। यूपी की राजनीति में जातिवाद का बेहद महत्व रहा है। 2023 को रिटायर होने वाले विश्वकर्मा के प्रयासो से ही डायल 112 शुरू हो गयी है। इसी बैच के डीजी जेल आनन्द कुमार ने अपनी कार्यशैली से प्रदेश की जेलों के हालात में काफी बदलाव किया है। इसके पहले वह एडीजी ला एण्ड आर्डर के पद पर भी रहे। 2023 में आनन्द कुमार का रिटायरमेंट हैं। सत्ता में आनन्द कुमार की अच्छी पकड़ बताई जाती है। वह काफी प्रबल दावेदारों में हैं। डीजी इंटलीजेंस के पद पर तैनात देवेन्द्र सिंह चौहान 1988 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। चौहान का रिटायरमेंट 2023 में होना है। लखनऊ के एसएसपी रहे अनिल कुमार अग्रवाल भी 1988 बैच के पुलिस अधिकारी हैं। इस समय वह केन्द्रीय प्रतिनियुक्ति पर हैं। 2023 में रिटायर होने वाले अनिल कुमार अग्रवाल डायल 100 के पद पर रह चुके हैं। इनके अलावा 1985 के आईपीएस अधिकारी अरूण कुमार का नाम आता है जो प्रतिनियुक्ति पर डीजी आरपीएफ के पद पर तैनात है। इनके अलावा अन्य पुलिस अधिकारियों में 1987 बैच के विश्वजीत महापात्रा तथा गोपाल लाल मीणा के अलावा 1986 बैच नासिर कमाल और सुजानवीर सिंह के नाम भी शामिल हैं।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रातः काल तड़तड़ाई गोलियां, बदमाशों ने अखिलेश यादव की कर दिया हत्या,ग्रामीण जनों में घटना को लेकर गुस्सा

आज से लगातार 08 दिनों तक बैंक रहेंगे बन्द जानें इस माह में कितने दिवस होगे काम काज

यूपी के गांव में जमीनी विवाद खत्म करने के सरकार ने बनायी यह योजना,नहीं होगी मुकदमें की नौबत