सोनभद्र की सीमा के पास वीआरएस कैम्प पर नक्सली हमला फूंक दिये बड़ी संख्या में वाहन



विन्ढमगंज थाना क्षेत्र से लगे झारखंड राज्य में महज पांच किलोमीटर दूर गढ़वा जिले के धुरकी थाना क्षेत्र में सड़क निर्माण करा रही कंपनी वीआरएस के घघरी गांव स्थित कैप कार्यालय पर अज्ञात लोगों ने धावा बोल दिया। इस दौरान कई वाहनों को फूंक दिया गया और कुछ वाहनों को बुरी तरह क्षतिग्रस्त कर दिया। पुलिस के अनुसार मध्यरात्रि की है। धुरकी थाना अंर्तगत रांची रीवां NH75 बिलासपुर से बीरबल होते हुए धुरकी तक सड़क निर्माण करा रही है। विभिन्न स्रोतों और प्रत्यक्षदर्शियों से मिली सूचना के मुताबिक मध्यरात्रि अचानक लगभग आधा दर्जन हथियारबंद नकाबपोश लोग वीआरएस कंपनी के घघरी गांव में स्थित कैंप कार्यालय पर आ धमके। उस समय कैंप में कंपनी के कर्मी सो रहे थे।
इस दौरान उन लोगों ने वाहनों पर डीजल छिड़ककर आग लगा दिया। रात में ही नक्सली एक चालक को पकड़कर पीटते हुए उसे लेकर कैंप ऑफिस पहुंचे और ऑफिस में सो रहे सभी कर्मियों को वहां से बाहर निकालकर एक जगह जमा किया और कैंप में रखे डीजल को वाहनों पर छिड़ककर आग लगा दी। इस घटना में नक्सलियों ने दो हाईवा, एक ग्रेडर और एक रोलर को आग के हवाले कर दिया जबकि दो जेसीबी मशीन को बुरी तरह क्षतिग्रस्त कर दिया। लगभग आधा घंटे तक उपद्रव किया इसके बाद गंभीर अंजाम भुगतने की चेतावनी देते हुए चले गए। वहीं सीमा पर जानकारी होते ही वारदात के बाद रात से ही सोनभद्र विन्ढमगंज बार्डर क्षेत्र में पुलिस की सक्रियता बढ़ा दी गई है। यह जानकारी देते हुए विंढमगंज थानाध्यक्ष विनोद सोनकर ने बताया कि पूरी सतर्कता बरती जा रही है। पुलिस नक्‍सलियों की टोह लेने के साथ ही क्षेत्र में उनके द्वारा किसी भी वारदात को रोकने के लिए तैयार है।


एक माह पूर्व इंजीनियर को किया था अगवा : एक माह पूर्व गत 25 जून को वीआरएस कंपनी के खुटिया गांव में स्थित कैंप ऑफिस से साईड इंजीनियर नागेंद्र सिंह को दिनदहाड़े अगवा कर लिया था तथा अपने साथ लेकर जंगल के रास्ते निकल लिये थे। जिसे चार घंटे बाद पुलिस की सक्रियता के बाद मुक्‍त कराया जा सका था। इसके बाद से ही यूपी झारखंड की सीमा पर नक्‍सलियों की टोह लेने के बाद कई बार कांबिंग करने के साथ ही मुखबिरों को अलर्ट कर दिया गया है। पूर्व में भी बारिश के दौरान नक्‍सली सक्रियता सोनभद्र और आसपास बढ़ जाती थी। इस बार भी सीमा पर नक्‍सली हमले से पुलिस प्रशासन अलर्ट मोड में हा गया है। रविवार की सुबह से ही पुलिस गश्‍त के साथ ही पुलिस प्रशासन के अधिकारी क्षेत्र में सक्रिय हो गए हैं। 

Comments

Popular posts from this blog

मछलीशहर (सु) लोकसभा में सवर्ण मतदाताओ की नाराजगी भाजपा के लिए बनी बड़ी समस्या,क्या होगा परिणाम?

स्वामी प्रसाद मौर्य के कार्यालय में तोड़फोड़ गोली भी चलने की खबर, पुलिस जांच पड़ताल में जुटी

लोकसभा चुनाव के लिए सायंकाल पांच बजे तक मतदान का प्रतिशत यह रहा