रिश्ता हुआ शर्मसारः जीजा ने साले को गोली मारकर किया हत्या पुलिस मुकदमा दर्ज कर हत्यारे की कर रही तलाश



जनपद हरदोई के थाना शाहबाद स्थित बाजार में आज दिन दहाड़े एक युवक ने पत्नी से विवाद का गुस्सा अपने सगे साले पर उतारते हुए उसे गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया है हत्या की घटना को अंजाम देने के बाद जीजा फरार हो गया है वही मृतक के परिवार में कोहराम मचा हुआ है हलांकि सूचना पर पुलिस विधिक कार्यवाई करते हुए हत्यारे की तलाश शुरू कर दिया है।
आपको बता दें की पत्नी से चल रहा विवाद को लेकर बहनोई ने अपने साले की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी। हत्या करने के बाद आरोपी मौके से फरार हो गए । घटना की जानकारी पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने गोली लगने से घायल युवक को उपचार के लिए अस्पताल भेजा। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने परिवार वालों की तहरीर पर आरोपी बहनोई और उसके पिता व भाइयों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके उनकी तलाश शुरू कर दी है। 
शाहाबाद कोतवाली इलाके में दिनदहाड़े हुआ गोली कांड है। जहां बीस साल के अनस को उसके बहनोई ने गोली मार दी। दरअसल शाहबाद के रहने वाले शकीर अली ने अपनी बेटी की शादी हर्रई के रहने वाले मुदस्सिर के साथ 4 साल पहले की थी। पति-पत्नी में शादी के बाद से अनबन के बाद से मुदस्सिर की पत्नी अपने पिता शाकिर अली के घर रह रही थी। मृतक व्यक्ति इसी बात को लेकर मुद्दीस्सर नाराज था और अपने ससुराल वालों से पत्नी को विदा करने के लिए दबाव बना रहा था लेकिन परिवार वाले बिना किसी सुलह समझौते के उसे भेजने को तैयार नहीं थे। जिसके बाद उसने साले को मारने की धमकी भी दी थी। परिवार वालों का आरोप है कि घटना के कुछ देर पहले मुद्दीस्सर ने फोन करके अपनी पत्नी को भेजने को कहा था। नहीं भेजने पर गोली मारने की धमकी दी। जिसके कुछ देर बाद मुद्दीसर और उसके भाइयों ने अपने साले अनस अली की दुकान पर जाकर उसे गोली मार दी। घटना में घायल अनस को उपचार के लिए अस्पताल भेजा गया जहां पर उसकी मौत हो गई। पुलिस ने अनस की हत्या के आरोप में उसके बहनोई मुद्दिसर समेत चार लोगों पर मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस चारों आरोपियों की तलाश कर रही है।

Comments

Popular posts from this blog

जौनपुर और मछलीशहर (सु) लोकसभा में जानें विधान सभा वारा मतदान का क्या रहा आंकड़ा,देखे चार्ट

मतगणना स्थल पर ईवीएम मशीन को लेकर हंगामा करने वाले दो सपाई सहित 50 के खिलाफ एफआईआर

आयोग और जिला प्रशासन के मत प्रतिशत आंकड़े में फिर मिला अन्तर