ट्रेन चालक की सूझबूझ से बची सैकड़ो की जान आईये जानते है क्या है पूरा मामला, कैसे बची दुर्घटना


ट्रेन चालक की सतर्कता के चलते लगभग 4०० लोंगों की जान बच गयी। जी हां आपको बता दें कि भदोही के औराई क्षेत्र अन्तर्गत अलमऊ हाल्ट के पास रेलवे ट्रैक के बीच में एक बड़ा होल हो गया। सुबह लगभग 8 बजकर 48 मिनट पर चौरी चौरा एक्सप्रेस वाराणसी के तरफ से प्रयागराज की ओर जा रही थी। अलमऊ हाल्ट के समीप रेलवे ट्रैक की मिट्टी धंसने से ट्रैक बैठा देखकर ड्राइवर की नजर पड़ी तो उन्होंने ट्रेन को कंट्रोल करते हुए ट्रैक के पास ट्रेन को रोक दिया। विभागीय अधिकारियों की लापरवाही उजागर हो रही है। घंटों बाद माधोसिंह स्टेशन पर खड़ी चौरी चौरा एक्सप्रेस को डाउन लाइन से प्रयागराज के लिए रवाना किया गया। इस सम्बन्ध में स्टेशन अधीक्षक राजेन्द्र मिश्रा ने बताया कि उच्चाधिकारियों को अवगत करा दिया गया है मामले की जांच पड़ताल की जायेगी। 
भदोही के औराई क्षेत्र अन्तर्गत अलमऊ हाल्ट के पास रेलवे ट्रैक के बीचो बीच जमीन धंस जाने के कारण कुछ ट्रेनों का आवागमन घंटों के लिए बधित हो गया। गौरतलब हो कि कुछ महीने पहले कार्यदायी संस्था द्वारा रेलवे ट्रैक के दोहरीकरण का कार्य किया गया था। किंतु विभागीय अधिकारियों की मिलीभगत से रेलवे ट्रैक को दलदल जमीन में हीं बना कर पास कर दिया गया। विभागीय अधिकारियों के लापरवाही का पोल वृहस्पतिवार को खुलता है जब चौरी चौरा ट्रेन आगे नहीं बढ़ पाती है। और उसे घंटों इन्तजार के बाद डाउन लाइन से जाना पड़ता है।
बताया जाता है कि अलमऊ हाल्ट के समीप ट्रैक के बीच में कुंआ जैसे बड़ा गड्ढा हो गया था। चालक की सतर्कता से लगभग 4०० लोंगों को मौत के मुंह से बचाया गया। यह गड्ढा यात्रियों के जिंदगीयों को खत्म कर सकती थी। लेकिन चालक सुजीत राय एवं गार्ड त्रिलोकी नाथ यादव के साहस से ट्रेन को पलटने से बचाया गया और ट्रेन को लगभग 1० किलोमीटर वापस माधोसिंह रेलवे स्टेशन पर ले आकर ट्रेन को खड़ी कर दिया गया। सुबह लगभग 8 बजकर 48 मिनट पर चौरी चौरा एक्सप्रेस वाराणसी के तरफ से प्रयागराज की ओर जा रही थी। अलमऊ हाल्ट के समीप रेलवे ट्रैक की मिट्टी धंसने से ट्रैक बैठा देखकर ड्राइवर की नजर पड़ी तो उन्होंने ट्रेन को कंट्रोल करते हुए ट्रैक के पास ट्रेन को रोक दिया। जिसकी सूचना उन्होंने माधोसिंह स्टेशन अधीक्षक राजेन्द्र मिश्रा को फोन से अवगत कराया और वहां से 10 किलोमीटर ट्रेन को पीछे माधोसिंह स्टेशन पर ले आकर ट्रेन को रोक दिया। यात्रियों ने ड्राइवर सुजीत राय गार्ड त्रिलोकीनाथ यादव का तालियां बजाकर के सहानुभूति प्रकट किया। कहा कि आज आपकी वजह से हम लोगों को नया जीवन मिल गया है। ऐसे में आप महानुभाव को हम लोगों द्वारा सल्यूट किया जाता है। घंटों बाद माधोसिंह स्टेशन पर खड़ी चौरी चौरा एक्सप्रेस को डाउन लाइन से प्रयागराज के लिए रवाना किया गया। इस सम्बन्ध में स्टेशन अधीक्षक राजेन्द्र मिश्रा ने बताया कि उच्चाधिकारियों को अवगत करा दिया गया है मामले की जांच पड़ताल की जायेगी।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ

सिद्दीकपुर में चला सरकारी बुलडोजर मुक्त हुई 08 करोड़ रुपए मालियत की सरकारी जमीन