पांच डाक्टरो के नाम से यूपी के इन 22 जिलो में अवैध रूप से चल रहे है अल्ट्रासाउंड सेंटर, डाक्टरो को नोटिस, जौनपुर भी अछूता नही



जौनपुर। पैसे के लिए प्रदेश के पांच डाक्टरों ने यूपी के 22 जिलो में अपनी डिग्रीयां  किराये पर दे रखा है। चिकित्सको की डिग्री पर अलग अलग नामों से अल्ट्रासाउंड सेंटर संचालित हो रहे है। इसकी खबर वायरल होने पर शासन ने सभी डाक्टरो को नोटिस भेज कर जबाब तलब किया है। नोटिस पहुंचाने का दायित्व पुलिस को दिया गया है
खबर है कि डाक्टरो के नाम से अलग अलग नाम पैथोलॉजी अल्ट्रासाउंड सेंटर आदि धड़ल्ले से चलाये जा रहे है एवज में डाक्टरो को 25 से 30 हजार रुपए तक प्रतिमाह किराया मिलता है परिवार कल्याण महा निर्देशालय इन सभी पांचो डाक्टरो जबाब तो मांगा है साथ ही मुकदमा भी लिखाये जाने की तैयारी है अधिकारी बताते है कि नियमतः एक डिग्री पर एक सेंटर ही खोला जा सकता है।
डा अधीर पार्सीवाल के नाम पर 28 अल्ट्रासाउंड सेंटर आजमगढ़, बाराबंकी, बरेली, बुलंदशहर, चित्रकूट, इटावा, फरूखाबाद, गोरखपुर, फतेहपुर, गोंडा, गाजीपुर, हमीरपुर, कानपुर, कन्नौज, लखीमपुरखीरी महराजगंज, मैनपुरी, मिर्जापुर, महोबा,सीतापुर, श्रावस्ती, वाराणसी में सेंटर चल रहे है। डाक्टर दीपक शोदान कपूर के नाम पर 14 सेंटर जौनपुर, लखनऊ, कानपुर, कानपुर देहात, रायबरेली मे चल रहे है। डा अशोक कुमार श्रीवास्तव के नाम से 15 सेंटर आजमगढ़, बहराइच, देवरिया, फरूखाबाद, गोंडा, जौनपुर, लखीमपुर खीरी में संचालित हो रहा है। डा सौरभ सिन्हा के नाम से बाराबंकी, उन्नाव, संभल, आजमगढ़, लखनऊ में सेंटर चल रहा है डा मनीष कुमार वैष्णव के नाम से 18 सेंटर अमेठी, बिजनौर ,बरेली, जौनपुर, बुलंदशहर, एटा, कानपुर, कुशीनगर, लखनऊ, लखीमपुर खीरी में चलाया जा रहा है।
निर्देशालय के सूत्र ने जानकारी दिया है कि डाक्टरो के खिलाफ कार्रवाई के साथ ही जिन जनपदो में अवैध रूप से अल्ट्रासाउंड सेंटर चल रहे है वहां के स्वास्थ्य विभाग की टीम के जरिये सेंटरो पर छापा मारीकर विधिक कार्यवाई की जा सकती है। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

विधायक और सपा नेता के बीच मारपीट की घटना का जानें सच है क्या,आखिर जिम्मेदार के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं

स्वागत कार्यक्रम में सपाईयों के बीच मारपीट की घटना से सपा की हो रही किरकिरी

हलाला के नाम पर मुस्लिम महिला के साथ सामुहिक दुष्कर्म, मुकदमा दर्ज मौलाना फरार