सपा की इस कार्यक्रम में जब के पूर्व मंत्री और पू्र्व विधायक भिड़े, लहराये असलहा,उड़ी कानून की धज्जियां


उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले के रानीगंज विधानसभा क्षेत्र में शुक्रवार को आयोजित समाजवादी पार्टी की संविधान बचाओ-भाजपा हटाओ अभियान में पार्टी संविधान की धज्जियां उड़ाई गई। जनसभा में जमकर मारपीट हुई। मंच पर पूर्व मंत्री और पू्र्व विधायक में बवाल हुआ। टिकट के एक दावेदार सहित कई लोगों की पिटाई की गई और असलहे लहराए गए। बदसलूकी से आक्रोशित पूर्व विधायक श्याद अली ने समर्थकों के साथ रानीगंज थाने का घेराव किया। इस मामले में पूर्व मंत्री शिवाकांत ओझा और उनके बेटे सहित तीन नामजद व 50 अज्ञात लोगों के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है।
सपा ने संविधान बचाओ-भाजपा हटाओ अभियान के तहत रानीगंज विधानसभा क्षेत्र के मिर्जापुर चौहारी की बाग में जनसभा का आयोजन किया था। जनसभा के मुख्य अतिथि पूर्व मंत्री आरके चौधरी थे। दोपहर के करीब तीन बजे मंच पर उनके साथ ही पूर्व मंत्री प्रो.शिवाकांत ओझा, पूर्व विधायक श्याद अली, शकील अहमद, बृजेश यादव, पूर्णांशु ओझा सहित अन्य नेता मौजूद थे। इस दौरान टिकट के दावेदारों के समर्थक उनके पक्ष में नारेबाजी करने लगे, जिससे माहौल तनावपूर्ण हो गया।
संबोधन के दौरान श्याद अली कहने लगे कि यह मंच सपा का है, सिर्फ शिवाकांत ओझा का महिमा मंडन करना ठीक नहीं है। इसी बात पर शिवाकांत ओझा माइक की ओर बढ़े तो उनके समर्थक भी मंच पर चढ़ गए और बात बिगड़ गई और दोनों में हाथापाई होने लगी। अपने को घिरता देख श्याद अली मंच से नीचे कूद पड़े।
आरोप है कि इस दौरान टिकट की दावेदारी करने वाले बृजेश यादव की जमकर पिटाई की गई। कार्यकर्ताओं ने मंच से पिस्टल भी लहराई। इसके बाद पूर्व विधायक श्याद अली, शकील अहमद, बृजेश यादव सहित कई नेता जनसभा छोड़कर पहले लिलहा पावरहाउस पहुंचे और वहां धरने पर बैठ गए। थोड़ी देर बाद वहां सीओ अतुल त्रिपाठी पहुंच गए और उन्हें उठाया। यहां से उठकर पूर्व विधायक हमला करने वालों पर कार्रवाई की मांग को लेकर थाने का घेराव कर दिया।
बृजेश यादव ने पुलिस को तहरीर देकर आरोप लगाया कि पूर्व मंत्री शिवाकांत ओझा के ललकारने पर उनके बेटे पूर्णांशू ओझा, अशोक मिश्र और 40-50 लोगों ने उन्हें लात-घूसों से मारा-पीटा। अशोक मिश्र ने उन पर पिस्टल तान दी। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया। एसओ अनिल पांडेय ने बताया कि पूर्व मंत्री सहित 53 लोगों के खिलाफ बलवा, मारपीट का मुकदमा दर्ज किया गया है। इस संबंध में शिवाकांत ओझा का पक्ष लेने की बहुत कोशिश की गई लेकिन उनकी ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली।
पूर्व विधायक श्याद अली की रिवाल्वर उनके भाई शहजाद ने ली थी। मारपीट के दौरान रिवाल्वर को लहराया गया था। इसलिए पुलिस ने उसे जब्त कर लिया। एसओ अनिल पांडेय ने बताया कि रिवाल्वर को लहराया गया था, इसलिए उसे जब्त किया गया है। रिवाल्वर का लाइसेंस निरस्त करने की रिपोर्ट भेजी जाएगी।




टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

टीईटी साल्वर गिरोह का हुआ भन्डाफोड़, दो गिरफ्तार,एक जौनपुर दूसरा सोनभद्र का निकला

जौनपुर में तैनात दुष्कर्म के आरोपी पुलिस इन्सपेक्टर की सेवा हुई समाप्त, जानें क्या है घटना क्रम

प्रेम प्रपंच में युवकों की जमकर पिटाई, प्रेमी की इलाज के दौरान मौत तो दूसरा साथी गंभीर