योगी सरकार की किसानों पर जानें क्या है चुनावी मेहरबानी


यूपी के किसानों पर योगी सरकार एक बार फिर मेहरबान हुई है। बाढ़ और बारिश से प्रभावित किसानों को पिछले तीन वर्ष में सरकार ने बड़ी राहत दी है। योगी सरकार ने वर्ष 2020-21 में नुकसान झेल रहे 8 लाख 57 हजार 937 किसानों के लिए 415.45 करोड़ रुपये जारी किए हैं जिनमें से अभी तक 301.54 करोड़ 54 रुपये किसानों के खाते में भेजा जा चुका है। योगी सरकार ने इसके पहले वर्ष 2018-19 में योगी सरकार ने तीन लाख 84 हजार 113 किसानों को दो अरब 12 करोड़ 76 लाख रुपये, इसके बाद 2019-2020 में एक लाख 79 हजार 536 किसानों को छह हजार 431 लाख रुपये राहत के रूप में भेजे थे। 

सरकार प्रदेश के अन्नदाता किसानों को हर तरह से राहत देने का काम पिछले तीन वर्षों से लगातार कर रही है। इस बार बाढ़ व भारी बारिश से किसानों की फसलों को काफी नुकसान पहुंचा था। मुख्यमत्री योगी आदित्यनाथ ने इन किसानों की परेशानी को समझने और इसकी भरपाई करने के लिए बाढ़ग्रस्त इलाकों का हवाई सर्वेक्षण भी किया। इसके बाद मुख्यमंत्री ने प्रभावित सभी जिलों के अधिकारियों से पीड़ितों किसानों का सर्वे करके उनको तत्काल राहत राशि पहुंचाने के निर्देश दिए थे। इसी का परिणाम रहा कि शासन-प्रशासन ने तत्काल इन किसानों को राहत राशि पहुंचाई। 

सरकार प्रदेश के अन्‍नदाता किसानों को हर तरह से राहत देने का काम कर रही है। पिछले दिनों बाढ़ व भारी बारिश से किसानों की फसलों को काफी नुकसान पहुंचा था। इसके बाद सरकार ने फसल नुकसान का आंकलन कर किसानों के लिए राहत पैकेज जारी किया था। सितम्बर और अक्टूबर की शुरुआत में हुई मूसलाधार बारिश और बाढ़ से करीब 44 जनपदों के किसानों की फसल को काफी नुकसान हुआ था। इसके बाद मुख्‍यमंत्री ने पीडि़त किसानों को तुरंत राहत पहुंचाने के निर्देश अधिकारियों को दिए थे। सरकार ने नुकसान की भरपाई के लिए किसानों को उचित मुआवजा देने का ऐलान किया था। सरकार ने अभी तक साढ़े आठ लाख से अधिक किसानों को मुआवजा देने का काम किया है। यह मुआवजा राशि जिला कोषागार से सीधे किसानों के बैंक खाते (डीबीटी) में ट्रांसफर की जा रही है। सरकार राज्य आपदा राहत कोष (एसडीआरएफ) से किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान कर रही है।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

चाचा भतीजी में हुआ प्यार, फिर फरार, पकड़े जाने पर हुई दैहिक समीक्षा, अब शादी की तैयारी

58 हजार ग्राम प्रधानो को लेकर योगी सरकार ने लिया अब यह फैसला

जौनपुर में तैनात दुष्कर्म के आरोपी पुलिस इन्सपेक्टर की सेवा हुई समाप्त, जानें क्या है घटना क्रम