जिला अस्पताल के निरीक्षण में डीएम को मिला आल इज ओक, सीएमएस को मिला यह निर्देश

 
जौनपुर। जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा ने आज गुरुवार को जिला अस्पताल का औचक निरीक्षण कर मरीजों को दी जा रही स्वास्थ्य सुविधाओं का जाना हाल और बेहतर सुविधा देने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने सीएमएस को स्पष्ट रूप से निर्देश दिया कि अस्पताल परिसर में प्राइवेट एंबुलेंस नहीं दिखनी चाहिए और न ही डॉक्टरों के द्वारा बाहर की दवा लिखी जाए। 
निरीक्षण में लैब टेक्नीशियन दिनेश कुमार ने बताया कि आज कोविड के कुल 65 लोगों की जांच हुई है, कोई भी व्यक्ति पॉजिटिव नहीं आया। जिलाधिकारी ने सीएमएस को को निर्देश दिया कि जितने भी बुखार के मरीज आ रहे हैं, उनकी गांव वार सूचना प्रतिदिन दी जाए, ताकि देखा जा सके कि किन गांव में मच्छर जनित रोगों का ज्यादा प्रभाव है और समय रहते ही बचाव के उपाय किए जा सके। 
दवा वितरण कक्ष के निरीक्षण के दौरान लोगों ने बताया कि बाहर से दवा नहीं लिखी जा रही है। जिलाधिकारी ने अस्पताल में सांकेतिक बोर्ड लगाए जाने के निर्देश दिए ताकि लोगों को आसानी से समझ में आ जाए कि उनसे सम्बंधित डॉक्टर कहां बैठते हैं। 
वार्ड के निरीक्षण में पाया कि बर्न वार्ड में लगी दोनों ए.सी काम कर रही हैं उन्होंने बर्न वार्ड में भर्ती मरीज सुजानगंज की ग्राम पंचायत अमाव के मो0 वहीद से बात-चीत की जिस पर मरीज के द्वारा बताया गया कि उनके घर में करन्ट उतर जाने से घायल हो गये है जिसपर अधी0अभियन्ता को जॉचकर रिपोर्ट देने का निर्देश दिये। उन्होंने भर्ती मरीज प्रदीप कुमार, अमरजीत निषाद, सीबा से बारी-बारी से बात कर उनके स्वास्थ्य एवं जलने के कारण के सम्बन्ध में जानकारी ली। सीएमएस को निर्देशित किया कि इनका अच्छे से इलाज किया जाए। किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाए। 
जिलाधिकारी के द्वारा सीएमएस को निर्देशित किया गया कि अस्पताल के प्रवेश द्वार पर डस्टबिन भी रखवाई जाए एवं अस्पताल के बाहर मरीजों एवं उनके तामीरदारो के लिए पेयजल की व्यवस्था रहे। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हर रात एक छात्रा को बंगले पर भेजो'SDM पर महिला हॉस्टल की अधीक्षीका ने लगाया 'गंदी डिमांड का आरोप; अधिकारी ने दी सफाई

यूपी कैबिनेट की बैठक में जौनपुर की इस नगर पालिका के विस्तार का प्रस्ताव स्वीकृत

जफराबाद विधायक का खतरे से बाहर डाॅ गणेश सेठ का सफल प्रयास, लगा पेस मेकर