यूपी में देर रात 6 आइएएस और 8 पीसीएस अधिकारियों के तबादले, देखें किसको कहां मिली जिम्‍मेदारी

 

शासन ने शुक्रवार की देर रात को छह आइएएस और आठ पीसीएस अधिकारियों के तबादले कर दिए। प्रमुख सचिव खाद्य एवं रसद तथा उपभोक्ता संरक्षण एवं बाट माप वीना कुमारी मीना को वर्तमान पद के साथ प्रमुख सचिव महिला कल्याण तथा बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है।
प्रतीक्षारत किंजल सिंह को महानिदेशक चिकित्सा शिक्षा के पद पर तैनात किया गया है। आइएएस अधिकारी श्रुति सिंह को उनके मूल काडर छत्तीसगढ़ के लिए कार्यमुक्त किये जाने के कारण महानिदेशक चिकित्सा शिक्षा का पद रिक्त था।
विशेष सचिव विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी प्रकाश बिन्दु को प्रबंध निदेशक यूपीसिडको (यूपी स्टेट कंस्ट्रक्शन एंड इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट) बनाया गया हैै। अब तक प्रबंध निदेशक यूपीसिडको रहे शिव प्रसाद-प्रथम को विशेष सचिव विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के पद पर तैनाती दी गई है।
विशेष सचिव पिछड़ा वर्ग कल्याण राधेश्याम को प्रबंध निदेशक उप्र अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम का दायित्व सौंपा गया है। विशेष सचिव नगर विकास से हटाये जाने के बाद प्रतीक्षारत सुनील चौधरी को विशेष सचिव पिछड़ा वर्ग कल्याण बनाया गया है।
स्थानांतरित पीसीएस अधिकारियों में उप्र अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की उप सचिव प्रियंका सिंह को हरदोई में अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व) के पद पर तैनात किया गया है। हरदोई में एडीएम (वित्त एवं राजस्व) रहीं वंदना त्रिपाठी को उप सचिव उप्र अधीनस्थ सेवा चयन आयोग बनाया गया है। अलीगढ़ के एडीएम (वित्त एवं राजस्व) अमित कुमार भट्ट अब इसी जिले में एडीएम सिटी की भूमिका निभाएंगे।
अलीगढ़ की एडीएम सिटी मीनू राणा उनकी जगह लेंगी। मुजफ्फरनगर के एडीएम (वित्त एवं राजस्व) अरविन्द कुमार मिश्रा को फर्रुखाबाद का सीडीओ बनाया गया है। उनके स्थान पर कन्नौज में एडीएम (वित्त एवं राजस्व) रहे गजेन्द्र कुमार को भेजा गया है। शाहजहांपुर के नगर मजिस्ट्रेट आशीष कुमार सिंह को एडीएम (वित्त एवं राजस्व) कन्नौज के पद पर तैनात किया गया है। उप जिलाधिकारी बरेली डा.वेद प्रकाश को नगर मजिस्ट्रेट शाहजहांपुर के पद पर भेजा गया है।

Comments

Popular posts from this blog

जौनपुर में चुनावी तापमान बढ़ाने आ रहे है सपा भाजपा और बसपा के ये नेतागण, जाने सभी का कार्यक्रम

अटाला मस्जिद का मुद्दा भी अब पहुंचा न्यायालय की चौखट पर,अटाला माता का मन्दिर बताते हुए परिवाद हुआ दाखिल

मछलीशहर (सु) लोकसभा में सवर्ण मतदाताओ की नाराजगी भाजपा के लिए बनी बड़ी समस्या,क्या होगा परिणाम?