14 अक्टूबर को लगने वाला सूर्य ग्रहण जानें कहां दिखाई देगा, जानें 28 अक्टूबर को लगने वाले चंद्रग्रहण की स्थित क्या होगी

इस माह दो महत्वपूर्ण खगोलीय घटनाएं होने जा रही हैं। 14 अक्टूबर को वलयाकार सूर्यग्रहण होगा, इसे देश में नहीं देखा जा सकेगा। यह यूएस, मैक्सिको और सेंट्रल अमेरिका और दक्षिण अमेरिका में ही दिखाई देगा। इसके बाद 28 अक्टूबर को आंशिक चंद्रग्रहण लग रहा है। जो वर्ष का अंतिम ग्रहण होगा। इसे भारत में देख सकेंगे।
विशेषज्ञो के अनुसार सूर्य ग्रहण तीन प्रकार के होते हैं। आंशिक, वलयाकार और पूर्ण सूर्य ग्रहण। जब चंद्रमा सामान्य की तुलना में पृथ्वी से दूर होता है, तब वलयाकार सूर्यग्रहण लगता है। परिणाम स्वरूप उसका आकार इतना नहीं दिखता कि वह पूरी तरह से सूर्य को ढक पाए। वलयाकार ग्रहण में चंद्रमा के बाहरी किनारे पर सूर्य रिंग अर्थात अंगूठी की तरह चमकदार नजर आता है। गुरुवार को इस साल का दूसरा सूर्य ग्रहण लगेगा। इसकी शुरुआत रात 8.34 बजे से होगी। रात 2.25 बजे ग्रहण समाप्त हो जाएगा।
तारामंडल के निदेशक डा. वाई रविकिरण के अनुसार, 28 अक्टूबर को लगने वाले चंद्रग्रहण की शुरुआत रात 1:06 बजे होगी और रात 2:22 बजे यह समाप्त होगा। इस दिन चंद्रमा बृहस्पति ग्रह के निकट दिखाई देगा जबकि 24 अक्टूबर को चंद्रमा शनि ग्रह के निकट रहेगा।
इस माह जो राशियां (तारों का समूह हैं राशियां) आकाश में दिख रही हैं उनमें धनु, मकर, कुंभ, मेष और वृषभ शामिल हैं। अन्य दिखाई देने वाले तारामंडल में शौरी, भुजंगधारी, हंस, स्वरमंडल, गरुड़, महाश्व, ययाति और सारथी प्रमुख हैं। इनके अतिरिक्त अभिजीत, श्रवण, मिनास्य, डेनेब, हमल, मिरफाक, कृत्तिका, ब्रम्हृदय, रोहणी और अलनैयर जैसे चमकदार तारे भी देखे जा सकते हैं।
जवाहर तारा मंडल की विज्ञानी सुरूर फातिमा के अनुसार वर्तमान में सूर्य और सब से छोटा ग्रह बुध कन्या राशि में है। चमकीला ग्रह शुक्र सिंह राशि में है। प्रातः काल तीन बजे पूर्व में यह उदय हो रहा है। मंगल सूर्य के निकट होने के कारण दिखाई नहीं देगा। सबसे बड़ा ग्रह बृहस्पति मेष राशि में है। सूर्यास्त के बाद पूर्व में इसे देख सकते हैं। वलयाकार शनि ग्रह कुंभ राशि में है। यह रात दो बजे अस्त हो रहा है।

Comments

Popular posts from this blog

भीषण दुर्घटना एक परिवार के आठ सदस्यो की दर्दनाक मौत, पुलिस ने किया विधिक कार्यवाई, इलाके में कोहराम

जौनपुरिया दूल्हा स्टेज पर पिया गांजा तो दुल्हन ने किया शादी से इन्कार,पुलिसिया हस्तक्षेप के बाद बगैर दुल्हन के लौटे बाराती

एक लाख रुपए घूस लेते हुए लेखपाल चढ़ा एन्टी करप्शन टीम के हाथ पहुंच गया सलाखों के पीछे जेल