17 की जांच रिपोर्ट आयी सभी की रिपोर्ट निगेटिव आ गयी है


   जौनपुर। सरकारी सूचना के अनुसार आज  17 सैंपल की जांच रिपोर्ट  आई है सभी नेगेटिव है ।एक दिन पूर्व  तीन लोगों का पॉजिटिव आया था, दो करनपुर गांव बदलापुर तहसील के हैं तथा एक ओईना गांव केराकत तहसील का है।आज 49 अन्य संदिग्धों के सैंपल लिए गए तथा अब तक जनपद  जौनपुर में ऐसे  793 लोगों को चिन्हित किया गया जो संदिग्ध थे जिनमे क्रोना जैसे लक्षण थे।कल सुबह 3:00 बजे से सुबह 7:00 बजे तक मंडी समिति में अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व मुख्य चिकित्सा अधीक्षक व अन्य डॉक्टरों की टीम ने मंडी में आने वाले सभी लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग की लगभग 6450 लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग हुई ऐसा कोई भी व्यक्ति नहीं पाया गया जिसमें क्रोना जैसे कोई लक्षण हो और उसका टेंपरेचर बढ़ा हुआ हो। परसो तीन केमिस्ट की दुकानों के मालिकों के  व कर्मचारियों के तथा 15 सब्जी वालों के भी रैंडम तरीके से सैंपल लिए गए। आज मर जाऊं शेल्टर होम में मुंबई से आए हुए 38 लोगों के सैंपल भी लिए गए।आज तक 692 सैंपल के रिजल्ट आ चुके हैं।अब 101 लोगों के नमूनों की जांच हो कर के आना शेष है जिसमें आज के 49 शामिल है।
 १५ अप्रैल को एक व्यक्ति शाने आलम का सैंपल पॉजिटिव आया था।  एक व्यक्ति  मोहम्मद असहद का 23 मार्च को सैंपल पॉजिटिव आया था जिनका इलाज चल रहा है जो ठीक हो गये हैं और अब इनका सैमपिल नेगेटिव आ गया है इन्हें अस्पताल से  6/4/2020  को छुट्टी दे दी गई है ये  घर चल गये  है तथा 2 अप्रैल को दो लोग का सैंपल पॉजिटिव आया था जिसमें एक बांग्लादेश का स्माइल था और दूसरा रांची का यासीन अंसारी था दोनों अस्पताल में भर्ती थी जो ठीक हो गए हैं तथा कल 21 अप्रैल को अस्पताल से छुट्टी मिल गई है लेकिन इनके खिलाफ वारंट होने के कारण इनको प्रसाद इंस्टिट्यूट की अस्थाई जेल में रखा गया है।एक व्यक्ति हाफिज गुफरान जो बदलापुर तहसील के देवरिया गांव का रहने वाला है तथा देवबंद से आया था का नमूना 8 अप्रैल को पॉजिटिव आया था वह वह भी ठीक हो गए हैं और उन्हें 21 अप्रैल को अस्पताल से छुट्टी हो गई है तथा उन्हें 14 दिन की शेल्टर होम क्वॉरेंटाइन में रखा गया है। अब केवल एक व्यक्ति शाने अली जो दिल्ली का रहने वाला है जिसका 15 अप्रैल को सैंपल पॉजिटिव आया था वह बनारस जिला अस्पताल में भर्ती है उसका इलाज चल रहा है 5 में से 4 जनपद में ठीक हो चुके हैं।किसी को घबराने की जरूरत नहीं है केवल सतर्कता बरतने की आवश्यकता है ।कोई भी व्यक्ति दूसरे व्यक्ति को स्पर्श ना करें ।दूरी बनाकर रखें। लाकडाऊन के नियमों का पालन करें ।सोशल डिस्टेंसिंग और आइसोलेशन के सिद्धांतों का पालन करें ।यही एक रास्ता इस बीमारी से बचाव का है ।हम सब इसका पालन करके ही क्रोना वायरस के संक्रमण को जनपद में रोक सकते हैं। अनावश्यक रूप से घरों से बाहर ना निकले । मास्क का प्रयोग करें ।समय-समय पर अपने हाथों को सैनिटाइज करते रहें या साबुन से धोते रहें।

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद