बगैर परमीशन के क्लीनिक चलाने की जांच का आदेश, जांच रिपोर्ट आने पर कार्यवाही संभव



जौनपुर।  कोरोना संक्रमण के चलते लाक डाऊन अवधि में सरकार द्वारा शोसल डिस्टेन्सिंग  को लेकर प्राईवेट नर्सिंग होम अथवा क्लीनिक को बगैर सीएमओ की अनुमति से चलाने पर प्रतिबंध लगाया है।  लेकिन सरकार के इस आदेश की धज्जियां यहाँ जनपद में चिकित्सक धड़ल्ले से उड़ा रहे है। 
उदाहरण के तौर पर आज वाजिदपुर तिराहा के पास चन्द्रा ईएनटी सेन्टर पर चेक किया गया पता चला कि सरकारी अस्पताल में संविदा पर सेवारत चिकित्सक डा. राजेश कुमार सरकारी अस्पताल में सेवा देने से तो परहेज कर लिए कि कोरोना संक्रमण संक्रमित न हो लेकिन अपना प्राईवेट क्लीनिक सीएमओ परमीशन लिए बगैर ही खोल कर पूरे दिन मरीज देख रहे है। बतादे यहाँ पर शोसल डिस्टेन्सिंग का कत्तई पालन नहीं किया जा रहा है। यहां सवाल यह है कि  चिकित्सक बगैर परमीशन के आपना क्लीनिक किसके सह पर चला रहे है। 
इस बाबत सीएमओ  रामजी पाण्डेय से बात करने पर उन्होंने बताया कि मामला संज्ञान में आते ही जिलाधिकारी ने गम्भीरता से लिया और सिटी मजिस्ट्रेट को जांच करने का आदेश दिया है जांच रिपोर्ट आने के पश्चात चिकित्सक के खिलाफ कार्यवाही संभव है। 

Comments

Popular posts from this blog

डीएम जौनपुर ने चार उप जिलाधिकारियों का बदला कार्यक्षेत्र जानें किसे कहां मिली नयी तैनाती देखे सूची

पुलिस भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले में जौनपुर की अहम भूमिका एसटीएफ को मिली,जानें कहां से जुड़ा है कनेक्शन

जौनपुर में आधा दर्जन से अधिक थानाध्यक्षो का हुआ तबादला,एसपी ने बदला कार्य क्षेत्र