शादी का झांसा दे कर मुस्लिम युवक ने दलित युवती का सात माह तक किया शारीरिक शोषण अब धर्मांतरण का दबाव



यूपी के जनपद अमेठी में एक दलित किशोरी को शादी का झांसा देकर एक मुस्लिम युवक लगातार सात माह तक दुष्कर्म करता रहा। जब किशोरी गर्भवती हो गई तो युवक ने शादी के लिए धर्म परिवर्तन की शर्त रख दी। शिकायत करने पर आरोपी युवक ने कहा कि थाने जाओगे तो जान से हाथ धोना पड़ेगा। हलांकि अब शिकायती तहरीर के आधार पर पुलिस मुकदमा दर्जकर आगे की कार्रवाई कर रही है।
उत्तर प्रदेश के अमेठी जिले में अपराधियों को पॉक्सो एक्ट, दलित उत्पीड़न एक्ट, सहित योगी राज की पुलिस का भय नहीं रह गया है। दिल दहला देने वाली घटना जिले के जामो थाना क्षेत्र के एक गांव की है। पीड़िता का पिता अहमदाबाद में रहकर मजदूरी करता है। उसने पुलिस में शिकायत किया कि दो दिन पूर्व वो जब अहमदाबाद से घर लौटा तो उसे खबर हुई कि गांव का रहने वाला नौशाद पुत्र इस्लाम ने मेरी बेटी को शादी का झांसा देकर उसके साथ अवैध संबंध बनाए। इससे मेरी बेटी गर्भवती हो गई।

जब उसने शादी करने का दबाव बनाया तो नौशाद ने धर्म बदलने का दबाव डाला। यही नहीं पीड़िता के पिता का आरोप ये भी है कि नौशाद और उसका पिता घर पर आकर गर्भपात कराने का दबाव बना रहे। इसको लेकर जब हमने डायल 112 को बुलाया तो भरे मजमें में मेरी बेटी ने कहा कि मेरे पेट में जो बच्चा है वो नौशाद का है। लेकिन अब आरोपित बेटी को जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। वहीं, इस संबंध में जामो थाने की पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस का कहना है कि जांच की जा रही है। उसके बाद ही कार्रवाई संभव है। वहीं, अपर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि उपरोक्त प्रकरण में संबंधित तहरीर के आधार पर मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है। लड़की को मेडिकल परीक्षण के लिए चिकित्सालय भेजा गया है। गिरफ्तारी के लिए टीम लगा दी गई है। अतिशीघ्र आरोपी की गिरफ्तारी हो जायेगी।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रातः काल तड़तड़ाई गोलियां, बदमाशों ने अखिलेश यादव की कर दिया हत्या,ग्रामीण जनों में घटना को लेकर गुस्सा

आज से लगातार 08 दिनों तक बैंक रहेंगे बन्द जानें इस माह में कितने दिवस होगे काम काज

यूपी के गांव में जमीनी विवाद खत्म करने के सरकार ने बनायी यह योजना,नहीं होगी मुकदमें की नौबत