अब रक्षाबंधन के बाद मंत्रीमंडल के विस्तार की सुबगुबाहट, विद्या सागर सोनकर बन सकते है मंत्री


उत्‍तर की योगी सरकार का कैबिनेट विस्‍तार जल्‍द हो सकता है। नई दिल्‍ली में गृहमंत्री अमित शाह और भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष जेपी नड्डा के साथ हुई सीएम योगी की मुलाकात के बाद कहा जा रहा है रक्षाबंधन के बाद कभी भी इसकी तारीख तय हो सकती है। उम्‍मीद है कि नए कैबिनेट विस्‍तार में पांच से छह नए चेहरों को शामिल किया जाएगा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक नए मंत्री बनने की दौड़ में पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्‍यक्ष लक्ष्‍मीकांत वाजपेयी, हाल में कांग्रेस से भाजपा में आए जितिन प्रसाद, निषाद पार्टी के अध्‍यक्ष संजय निषाद और एमएलसी विद्यासागर सोनकर समेत एक-दो और नाम शामिल हैं। हालांकि फिलहाल इनमें से किसी ने इस बारे में कोई बयान नहीं दिया है। 

गुरुवार को दिल्‍ली में गृहमंत्री से उनके आवास पर निषाद पार्टी के अध्‍यक्ष संजय निषाद ने भी मुलाकात की थी। इस मुलाकात के बाद उन्‍होंने मीडिया से बातचीत में यह जरूर कहा कि निषाद आरक्षण लागू करने, निषाद आरक्षण आंदोलन के दौरान पिछली सरकारों द्वारा किए गए राजनैतिक मुकदमों की वापसी सहित कई मुद्दों पर उनकी बातचीत हुई है। बैठक में अमित शाह के अलावा भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, केंद्रीय संगठन मंत्री बीएल संतोष भी मौजूद रहे। संजय निषाद ने बताया कि पिछली सरकारों के द्वारा मछुआरों के जीवकोपार्जन के संसाधन ताल, झील, जलाशय, पोखरों को काला कानून बनाकर निषादों से छिनने वाले कानून को समाप्त करने की मांग प्रदेश सरकार से की गई। इन तालाब के पट्टे फिर से निषादों को आवंटित होने का शासनादेश जारी हो इसके लिए सार्थक बात हुई। उन्होंने बताया कि आगामी विधानसभा में निषाद पार्टी की हिस्सेदारी के साथ ही निषाद बाहुल्य सीटों पर चर्चा हुई। जिससे आने वाले समय में निषाद समाज का भविष्य उज्जवल हो।

योगी मंत्रिमंडल में हैं कुल 53 मंत्री


योगी मंत्रिमंडल में अभी कुल 53 मंत्री हैं। इनमें 23 कैबिनेट, नौ राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) और 21 राज्यमंत्री हैं। बताया जा रहा है मानक के अनुसार कुल 60 मंत्री बनाए जा सकते हैं। इस लिहाज से अभी सात और मंत्री बनाए जा सकते है। उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में अब कुछ महीने ही बचे हैं। योगी सरकार और भाजपा इस समय पूरी तरह चुनावी तैयारी में जुटी है। इसी के तहत जातीय और अन्‍य समीकरण साधने के लिए मंत्रिमंडल विस्तार की तैयारी चल रही है। बताया जा रहा है कि बैठक में प्रदेश में होने वाले चार एमएलसी के मनोनयन पर भी चर्चा की गई। 


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ

सिद्दीकपुर में चला सरकारी बुलडोजर मुक्त हुई 08 करोड़ रुपए मालियत की सरकारी जमीन