सीएम योगी के खिलाफ चुनाव लड़ने के ऐलान के बाद हाऊस अरेस्ट कर लिए गये पूर्व आईपीएस अधिकारी


सीएम योगी के खिलाफ विधानसभा चुनाव लड़ने का ऐलान करने वाले चर्चित रिटायर आईपीएस अमिताभ ठाकुर को पुलिस ने हाउस अरेस्ट कर लिया है। इसकी जानकारी उन्होंने खुद ट्वीट के जारिए दी। वहीं पुलिस का कहना है कि उन्हें केवल गोरखपुर जाने से रोका गया है।

अमिताभ ठाकुर आज शनिवार को सुबह ट्वीट कर जानकारी दी कि उन्हें गोरखपुर जाने से रोका गया है। पुलिस घेरे में रखा गया है। उनकी पुलिस से बातचीत चल रही है। पुलिस का कहना है कि उन पर रेप आरोपी का साथ देने का आरोप है। आरोपों की जांच चल रही है। कमेटी ने गंभीर आरोप की जांच के लिए इन्हें तलब किया है। कमेटी के सामने इन्हें पेश होना है। इससे पहले इन्हें लखनऊ से बाहर जाने से रोका गया था। खासकर उस रीजन में जो आरोपी, पीड़िता या घटनास्थल से जुड़ा हुआ हो। बावजूद इसके इन्होंने प्रतिबंध का उलंघन किया। 

आपको बता दें कि अमिताभ ने एक हफ्ते पहले सीएम योगी के खिलाफ यूपी विधानसभा 2022 चुनाव लड़ने का ऐलान किया था। वह सीएम योगी आदित्यनाथ के खिलाफ चुनावी जनसंपर्क के लिए गोरखपुर जा रहे थे। इस बीच उन्हें एसीपी गोमतीनगर ने आकर रोक लिया। अमिताभ ठाकुर फिलहाल आईजी रूल्स एंड मैनुअल के पद जबरन रिटायर किया गया था। अमिताभ ठाकुर 1992 बैच के आईपीएस हैं।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

सिद्दीकपुर में चला सरकारी बुलडोजर मुक्त हुई 08 करोड़ रुपए मालियत की सरकारी जमीन

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ