शासनादेश जारी: यूपी में जानें क्यों बन्द कर दिया गया जेल में मुलाकात

उत्तर प्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए जेलों में  निरुद्ध बंदियों की सुरक्षा के लिए संबंधियों से मुलाकात की व्यवस्था को स्थिति सामान्य होने तक स्थगित रखा जाएगा। इस संबंध में शासनादेश जारी कर दिया गया है।
यह भी आदेश दिया गया है कि बाराबंकी में कोविड पॉजिटिव पाए गए बंदी के स्वास्थ्य की सतत निगरानी की जाए। आवश्यकता होने पर तत्काल अस्पताल में इलाज की सुविधा मुहैया कराई जाए।
प्रदेश में कोरोना के नए मामलों  में तेजी देखने को मिल रही है। हालांकि संक्रमण की स्थिति अभी पूरी तरह नियंत्रण में है। थोड़ी सी भी लापरवाही प्रदेशवासियों के लिए भारी पड़ सकती है। बीते 24 घंटों में हुई 01 लाख 93 हजार 549 सैम्पल की जांच में कुल 383 नए संक्रमितों की पुष्टि हुई। इसी अवधि में 31 लोग उपचारित होकर कोरोना मुक्त भी हुए।
आज प्रदेश में कुल एक्टिव कोविड केस की संख्या 1211 है, जबकि 16 लाख 87 हजार 859 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं।  विशेषज्ञों का मानना है कि संक्रमण तेज है लेकिन वायरस कमजोर है। अतः कोरोना प्रोटोकॉल का हर हाल में अनुपालन जरूरी है।
लोगों को बचाव के संबंध में लगातार जागरूक किया जाए। उन्हें मास्क पहनने, टीकाकरण कराने और सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन करने के लिए प्रेरित किया जाए। बचाव का यह सर्वोत्तम प्राथमिक उपाय है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा ने पहले फेज के चुनाव हेतु प्रत्याशियों की जारी की सूची इन लगाया दांव

यूपी: भाजपा ने जारी किया पहले और दूसरे चरण में चुनाव के प्रत्याशियों की सूची,योगी जी लड़ेंगे गोरखपुर से ,देखे सूची

जौनपुर में बसपा को जोर का झटका करीने से, डॉ जेपी सिंह ने सुभासपा किया ज्वाइन