बृजेश सिंह हत्याकांड का खुलासा करते हुए पुलिस ने एक महिला सहित चारो अभियुक्तो को गिरफ्तार कर भेजा जेल


जौनपुर। जनपद वाराणसी के होटल व्यापारी  बृजेश कुमार सिंह पटेल उर्फ बबलू हत्याकाण्ड का खुलासा थाना केराकत की पुलिस ने 14 घण्टे के अंदर करते हुए हत्याकांड में वांछित 
एक महिला सहित सभी चार आरोपी अभियुक्तों को गिरफ्तार कर  लिया है। उनके पास हत्या में प्रयुक्त किये जानें वाले आला कतल हथियार लोहे की राड व ईंट आदि को बरामद किया गया है। 
इस सन्दर्भ में आईजी वाराणसी के. सत्यनारायण ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि बबलू की हत्या आशनाई के चक्कर में उसके लान का कर्मचारी अपने जीजा व अन्य सहयोगियों के साथ मिलकर किया है। शव को छिपाने के जिले केराकत थाना क्षेत्र के सोहनी गांव में गेंहू के खेत में फेंक दिया था। घटना के खुलासे पर आईजी ने एसपी सिटी,सीओ केराकत को प्रस्सति पत्र व एसओजी टीम व केराकत पुलिस को 20 हजार रुपये इनाम देने की घोषणा की है।
बता दें केराकत कोतवाली क्षेत्र के सोहनी पौनी गांव में गत सोमवार की सुबह महेंद्र प्रताप के गेंहू के खेत में एक युवक का खून से लथपथ व शव मिला था शिनाख्त छिपाने के लिए कपड़े जलाए गए थे घटना के बाद पूरे इलाके में सनसनी फैल गयी। सूचना मिलते ही सीओ केराकत शुभम तोदी समेत भारी पुलिस फोर्स मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में लेने के बाद मृतक की शिनाख्त करने का प्रयास किया। शिनाख्त में विलंब होने पर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम हेतु भेज दिया। बाद में मृतक की पहचान बृजेश कुमार सिंह पटेल उर्फ बबलू पुत्र चंद्रमोहन निवासी पहड़िया वाराणसी के रूप में हुई। केराकत पुलिस ने मृतक के भाई कमलेश कुमार की तहरीर पर मुअसं 98/22 धारा 302 भादवि के तहत मुकदमा दर्ज करके छानबीन शुरू कर दिया। एसपी ने इस हत्याकाण्ड का पर्दाफास करने के लिए केराकत पुलिस के साथ स्वाट टीम और सर्विलांस टीम को लगाया। जिसका खुलासा आज पुलिस ने कर लिया है। 
आईजी वाराणसी के.सत्यनारायण ने आज पुलिस लाइन में मीडिया को पूरे घटना क्रम की जानकारी देते हुए बताया कि मृतक शराब और शबाब का शौकिन था। जब वह शराब पीता था वह अपने कर्मचारी मनीष पाल के बहन के ससुराल पहुंच जाता था। इसी तरह घटना वाली रात भी वह अपने मैरेज हाल पर छककर दारू पीया और मुर्गा खाने के बाद घर से अपनी कार लेकर सीधे अपने कर्मचारी के बहन घर पहुंच गया। उसके जीजा से कहा कि आप अपने घर में रहे ये मेरे साथ जायेगी। इसी बात को लेकर विवाद हुआ तो बहन अपने भाई को पूरी घटना की जानकारी दी इसके बाद भाई अपने एक साथी के साथ मौके पर पहुंचा और मालिक और कर्मचारी के बीच गाली गलौज होने लगी इसी बीच कर्मचारी ने कार में रखी एक लोहे की राड से बृजेश के सिर पर प्रहार कर दिया। जिससे उसकी मौत हो गयी। उसके बाद कर्मचारी ने मृतक की कार से ही उसका शव लेकर केराकत थाना क्षेत्र के सोहनी गांव में ले जाकर एक गेंहू के खेत में फेक दिया।इस मामले में एसओजी टीम के प्रभारी आदेश त्यागी की अहम भूमिका रही और केराकत पुलिस ने सर्विलांस की मदद से आरोपी मनीष पाल,दीपक चौहान,नितिन पाल और सरोजा पाल निवासी वराणसी को गिरफ्तार कर लिया,वही खुलासा करने वाली टीम को आईजी 20 हजार रुपया नगद देने की घोषणा की है। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ

सिद्दीकपुर में चला सरकारी बुलडोजर मुक्त हुई 08 करोड़ रुपए मालियत की सरकारी जमीन