विकास कार्यो की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को डीएम ने दिया यह शख्त निर्देश


जौनपुर। कलक्ट्रेट परिसर स्थित सभागार में विकास कार्यो की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ शत-प्रतिशत पात्र व्यक्तियों को दिलाया जाए। समीक्षा करते हुए डीएम निर्देश दिया कि सिटी स्टेशन के पास बने फ्लाईओवर पर दोनों सर्विस लेन प्रत्येक दशा में चालू कर दिया जाए, जिससे जाम न लगे।
उन्होंने कहा कि अभियान चलाकर शहर एवं नगर पालिका/नगर पंचायतों में साफ-सफाई के कार्य, प्लास्टिक जब्तीकरण कराए जाएं। उन्होंने कहा कि सड़क पर कही भी प्लास्टिक न दिखे। जिलाधिकारी ने कहा कि सभी विकास खण्ड अधिकारियों के पास उनके विकासखंड में चल रहे निर्माण कार्यों की सूची अवश्य होनी चाहिए। उप निदेशक कृषि को निर्देश दिया कि बीज वितरण के सम्बन्ध में प्रचार-प्रसार कराये और ब्लॉकों में अच्छे किसान का नाम दीवारों पर लिखवाया जाए एवं अन्य विभागों के अच्छे कार्यों की बुकलेट तैयार करें, जिन्हें देखकर अन्य लोग भी प्रेरित हो।  
नमामि गंगे के तहत चल रहे एस.टी.पी. प्रोजेक्ट एवं घाट के सुंदरीकरण के प्रगति की जानकारी प्राप्त की और निर्देश दिया कि समय से कार्य पूर्ण कराये। गो-आश्रय स्थलों की समीक्षा करते हुए मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिया कि सभी गो-आश्रय स्थलों में पशु चिकित्सा अधिकारी अगले दो दिनों में जाकर पशुओं के स्वास्थ्य, पेयजल की उपलब्धता, शेड की व्यवस्था देखें। उन्होंने कहा कि सभी गो-आश्रय स्थलों में हरिशंकरी वृक्ष लगाए जाएं। सभी जगहो पर हरा चारा बोए जाने के निर्देश भी दिए। जिलाधिकारी के द्वारा गेहूं क्रय केंद्रों की समीक्षा की गई। 
विद्युत विभाग की समीक्षा करते हुए निर्देश दिया कि विद्युत आपूर्ति में और सुधार लाए और विभाग के द्वारा चलाई जा रही योजनाओं का प्रचार प्रसार किया जाए। अधीक्षण अभियंता पीडब्ल्यूडी को निर्देशित किया की निर्माणाधीन फोरलेन की नाली बारिश से पहले बना ली जाए। जिला पूर्ति अधिकारी को निर्देश दिया कि राशन वितरण में घटतौली की शिकायत न आने पाए। समाज कल्याण अधिकारी से छात्रवृत्ति एवं अभ्युदय योजना के संबंध में जानकारी प्राप्त की और निर्देश दिया कि रोस्टर के हिसाब से कक्षाएं चलाई जाए, जिलाधिकारी व अन्य अधिकारियों के द्वारा भी क्लास ली जाएगी। उन्होंने अभ्युदय योजना के तहत चल रही कोचिंग को डायट परिसर में चलाए जाने के निर्देश दिए। 
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ0 लक्ष्मी से दवाओं की उपलब्धता, एम्बुलेंश की स्थिति के संबंध में जानकारी प्राप्त की और निर्देश दिया कि सीसीटीवी के माध्यम से चिकित्सकों की उपस्थिति सुनिश्चित की जाए। जिलाधिकारी ने कहा कि यातायात प्रबंधन में अच्छा प्रयास किया गया है। जिन जगहों पर अतिक्रमण हटाया गया है वहां के ट्रैफिक पुलिस एवं लोकल थाने की जिम्मेदारी तय की जाए जिससे लोग फिर से कब्जा न कर पाए। 
सभी अधिशासी अधिकारियों से कहा कि नगर के चौराहों का सुंदरीकरण किया जाए एवं अच्छी लाइटें लगाई जाए। निर्माणाधीन आगनबाड़ी केंद्रों का कार्य शत-प्रतिशत पूर्ण हो जाए और समय से पोषण ट्रेकर की फीडिंग करा ली जाए। 
प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की समीक्षा करते हुए मुख्य विकास अधिकारी अनुपम शुक्ला को निर्देश दिया कि सभी सड़कों का सत्यापन कराया जाए। जिलाधिकारी ने कहा कि गांव में तैनात कार्मिकों की उपस्थिति ऑनलाइन एवं ऑफलाइन वहीं से दर्ज किया जाए। 
इस दौरान जिलाधिकारी के द्वारा आईजीआरएस पर आने वाली शिकायतों का गुणवत्तापूर्ण निस्तारण के निर्देश दिए गए। उन्होंने 50 लाख के ऊपर की निर्माण कार्यों की समीक्षा की और निर्देश दिया कि समय से कार्य पूर्ण करें। 
इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी भू-राजस्व रजनीश राय, जिला विकास अधिकारी बी.बी. सिंह, पीडी अरविंद सिंह, जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी आरडी यादव, डीएफओ प्रवीण खरे, बेसिक शिक्षा अधिकारी गोरखनाथ पटेल सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जौनपुर का बेटा बना यूनिवर्सिटी आफ टोक्यो जापान में प्रोफ़ेसर, लगा बधाईयों का तांता

इलाहाबाद हाईकोर्ट का ग्रामसभा की जमीन को लेकर डीएम जौनपुर को जानें क्या दिया आदेश

सिकरारा क्षेत्र से गायब हुई दो सगी बहने लखनऊ से हुई बरामद, जानें क्या है कहांनी