एसटीएफ ने पकड़ा साल्वर गैंग 21 हुए गिरफ्तार, लेखपाल की परीक्षा में दे रहे थे दूसरे की परीक्षा

 

यूपी में रविवार को भी लेखपाल भर्ती परीक्षा में सेंधमारी का प्रयास किया गया। परीक्षा में नकल कराने के लिए सक्रिय साल्वर गैंग को एसटीएफ की चपलता के कारण पकड़ा गया। एसटीएफ ने प्रदेश के विभिन्न जिलों से 21 लोगों को पकड़ा है, जो कि दूसरे के स्थान पर परीक्षा दे रहे थे या नकल कराने के प्रयास में लगे थे। इन 21 में सरगना भी शामिल है।
उत्तर प्रदेश एसटीएफ ने रविवार को राजस्व लेखपाल भर्ती की मुख्य परीक्षा में अभ्यर्थियों से काफी धन लेकर साल्वर बैठाने तथा अन्य माध्यमों से प्रदेश के विभिन्न परीक्षा केन्द्रों पर परीक्षा को बाधित करने के प्रयास में बड़ी कार्रवाई की है। एसटीएफ ने इस मामले में साल्वर्स, नकल कराने के गैंग लीडर्स तथा अभ्यर्थियों सहित 18 लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें से कई साल्वर बिहार के भी हैं। 
उत्तर प्रदेश एसटीएफ के एडीजी अमिताभ यश ने बताया कि यूपी लेखपाल भर्ती परीक्षा में धांधली के मामले में पूरे प्रदेश में अभी तक कुल 21 लोगों को विभिन्न थानों से गिरफ्तार किया गया है। प्रयागराज से भी विजय कांत पटेल नाम सरगना की गिरफ्तारी की गई है।
उत्तर प्रदेश एसटीएफ ने रविवार को अयोध्या, अलीगढ़, आगरा, बरेली, मेरठ, गोरखपुर, प्रयागराज, मुरादाबाद, झांसी, कानपुर नगर, लखनऊ के साथ वाराणसी के कुल 501 परीक्षा केन्द्रों पर अपनी टीम का जाल डाल दिया था। पहली पाली में परीक्षा दस से 12 बजे तक तथा दूसरी पाली में दो से चार बजे तक थी। एसटीएफ की टीम ने जिलों में एलआइयू से परीक्षा को लेकर इनपुट मांगा था। इसके आधार पर 21 लोगों के खिलाफ कार्रवाई कर उनको जेल भेजा गया है।
डिप्टी एसपी एसटीएफ, मुख्यालय लाल प्रताप सिंह, पुलिस उपाधीक्षक के नेतृत्व में टीम ने प्रयागराज से नरेन्द्र कुमार पटेल पुत्र लालजी पटेल निवासी कटसा थाना बहरिया, फूलपुर, प्रयागराज एवं संदीप पटेल पुत्र राधेश्याम पटेल निवासी नया नगर कालोनी, झूंसी, प्रयागराज को पकड़ा। इन लोगों ने बताया कि ब्लूटूथ की मदद से परीक्षा दे रहे थे। इन दोनों को गिरफ्तार किया गया है।
वाराणसी के परीक्षा केंद्र आरपी रस्तोगी इका, कोतवालपुरा बांसफाटक थाना चौक से दिलीप गुप्ता पुत्र जगदीश प्रसाद गुप्ता, लक्ष्मीपुर थाना रानीगंज जनपद प्रतापगढ़ को कान में लगे डिवाइस सहित गिरफ्तार किया गया। प्रयागराज के परीक्षा केन्द्र इश्वर प्रेम विद्या मन्दिर नैनी से अभ्यर्थी दिनेश कुमार साहू पुत्र जीत लाल निवासी लेबर कालोनी नैनी, प्रयागराज को ब्लूटूथ डिवाइस सहित मुख्यालय की सूचना पर एसटीएफ प्रयागराज ने गिरफ्तार किया।
कानपुर के परीक्षा केन्द्र डीपीएस इण्टर नगर निगम कालेज, नवाबगंज, से अभ्यर्थी करण कुमार पुत्र धर्मपाल निवासी 2/10 मोहल्ला कल्याणपुर थाना मऊआइमा प्रयागराज को एक ब्लूटूथ डिवाइस सहित एसटीएफ फील्ड इकाई, कानपुर टीम ने गिरफ्तार किया है।
प्रमेश कुमार शुक्ल, पुलिस उपाधीक्षक, एसटीएफ की मुख्यालय टीम ने लखनऊ के परीक्षा केन्द्र एजल कारमल इण्टर कालेज, सनेही नगर, ताड़ीखाना, थाना मडिय़ांव से अभ्यर्थी रूपेश कुमार पुत्र जगदीश कुमार निवासी रामजानकी नगर, थाना चिरूवाताल, गोरखपुर के स्थान पर साल्वर राजू कुमार पुत्र सतीश कुमार निवासी सैदाबाजार, थाना कदम कुआ, पटना को परीक्षा देते गिरफ्तार किया गया।
परीक्षा केन्द्र बाल निकुन्ज गल्र्स एकेडमी, बेलीगारद, सेक्टर-पी, अलीगंज से अभ्यर्थी अमित यादव पुत्र राम प्रवेश यादव निवासी सिंहासनपुर, थाना शाहपुर, जनपद गोरखपुर के स्थान पर साल्वर संजय कुमार यादव पुत्र बल्देव यादव निवासी संदरपुर थाना बहादुर जनपद पटना (बिहार) को परीक्षा देते गिरफ्तार किया गया है।
एसटीएफ फील्ड इकाई, मेरठ ने संदीप कुमार पुत्र सोनपाल जिसवारा पट्टी छपरौली बागपत और उसके स्थान पर परीक्षा देने वाले साल्वर मोहित पुत्र सूबे सिंह पट्टी कल्याणपुर सोनीपत को स्वरूपीदेवी मेमोरियल इंटर कालेज मझोला मुरादाबाद से गिरफ्तार किया गया। थाना मझोला मुरादाबाद क्षेत्र में एसटीएफ और स्थानीय पुलिस द्वारा पूछताछ कर गैंग लीडर और अन्य सदस्यों की गिरफ्तारी के प्रयास में लग गई है।
एसटीएफ फील्ड इकाई, प्रयागराज की टीम ने विजय कान्त पटेल पुत्र इन्द्रजीत पटेल, (मुख्य अभियुक्त ), निवासी अतनपुर, थाना बहरिया, प्रयागराज, दिनेश कुमार यादव पुत्र मुन्नी लाल यादव, (विजय कान्त का सहयोगी), निवासी राजेपुर, थाना बहरिया, जनपद प्रयागराज, सोनू कुमार पुत्र छोटे लाल पासी, (विजय कान्त का सहयोगी), निवासी सराय अजीज, थाना बहरिया, जनपद प्रयागराज को गिरफ्तार किया गया है।
विजय कान्त पटेल ने ने राजस्व लेखपाल परीक्षा में सात अभ्यर्थियों से दस-दस लाख रूपये लिए थे। उसने सभी को ब्लूटूथ ईयर बर्ड एवं ब्लूटूथ डिवाइस देकर भेजा था। इसी कारण अभ्यर्थी पुष्पेन्द्र को परीक्षा केन्द्र उदय प्रताप इण्टर कालेज ब्लाक भोजूबीर वाराणसी, जयसिंह पटेल को श्रीमती माया देवी बालिका इण्टर कालेज, गोविंद नगर कानपुर नगर से पकड़ा गया है।
इन सभी को परीक्षा केन्द्र भेजकर यह बताया गया था कि उनको कि डिवाइस ऑन रखना और पेपर आउट होते ही सभी प्रश्नों का उत्तर सभी अभ्यर्थियों को अलग-अलग मोबाइल से उनके ब्लूटूथ डिवाइस के माध्यम से भेजा जाएगा। विजय कान्त पटेल की इस सूचना पर पुष्पेन्द्र एवं जयसिंह पटेल को एसटीएफ ने गिरफ्तार है।
नकल एवं शिक्षा माफिया डा केएल पटेल करीबी संदीप पटेल पुत्र ओमकार नाथ पटेल, निवासी अतनपुर, थाना बहरिया, प्रयागराज के माध्यम से पेपर एवं उत्तर कुंजी प्राप्त कर अभ्यर्थियों के अलग-अलग मोबाइल से विजय कान्त अपने सहयोगी दिनेश कुमार यादव एवं सोनू कुमार पासी के साथ गोहरी-सोरांवरोड गैस गोदाम के नजदीक अपनी कार में बैठकर पेपर साल्व कराया रहा था। इनके कब्जे से 15 ब्लूटूथ ईयर बर्ड, छह सिमकार्ड, छह ईयर बर्ड सेल, नौ ब्लूटूथ डिवाइस कार्ड के साथ दस मोबाइल, एक पैनकार्ड, एक डीएल तथा 620 रूपया मिला है।
मुख्य अभियुक्त विजय कान्त पटेल नकल एवं शिक्षा माफिया डा. केएल पटेल के आईटीआई कालेज, मुबारकपुर में करीब तीन वर्ष तक शिक्षक के रूप में काम कर चुका है। इसके बाद इस धंधे में लिप्त हो गया।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जफराबाद विधायक को हार्ट अटैक फस्टेड के बाद, मेदान्ता के लिए रेफर

जफराबाद विधायक का खतरे से बाहर डाॅ गणेश सेठ का सफल प्रयास, लगा पेस मेकर

योगी सरकार ने यूपी में आज फिर 12 आईएएस का तबादला, देखे सूची