शिक्षा अनुश्रवण की बैठक में डीएम ने दिया खण्ड शिक्षाधिकारियों को यह निर्देश


जौनपुर। जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा की अध्यक्षता में विकास भवन के सभागार में जिला शिक्षा अनुश्रवण समिति की मासिक बैठक संपन्न हुई।ऑपरेशन कायाकल्प के तहत परिषदीय विद्यालयों को निर्धारित 19 पैरामीटर पर संतृप्त कराना है, जिसके लिए सभी खंड विकास अधिकारी, खंड शिक्षा अधिकारी और एडीओ पंचायत आपस में समन्वय में करते हुए पूर्ण करें। डोभी के पांच एआरपी जिनका सपोर्टिव सुपरविजन शून्य है, उनको नोटिस जारी करने के निर्देश दिए गए।
खंड शिक्षाधिकारियों को निर्देशित किया कि जिन विद्यालयों में अभिभावकों के द्वारा उर्दू न पढ़ाये जाने के कारण नामांकन नहीं करा रहे उन विद्यालयों में उर्दू शिक्षकों की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। विकासखंड करंजाकला के प्राथमिक विद्यालय दरवेशपुर के छात्रों के क्रियाकलापों बने प्रेजेंटेशन को अधिकारियों ने देखा और सराहना की। उन्होंने कहा कि सभी खंड शिक्षाधिकारी सुनिश्चित करें कि विद्यालयों में पढ़ने वाले बच्चों के जन्मदिन मनाये जाए। विद्यालयों में पुरातन छात्रों के साथ बैठक कराई जाएं। पुरातन छात्रों की सूची विद्यालयों में पेंट कराई जाए।
बेसिक शिक्षा अधिकारी डा0 गोरखनाथ पटेल को निर्देशित किया कि यदि कोई छात्र लगातार अनुपस्थित हो रहा है तो शिक्षक की जिम्मेदारी तय की जाये। जिलाधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया कि डीबीटी के तहत शत-प्रतिशत छात्रों के खाते में पैसे भेज दिए जाएं। किताबों के वितरण के संबंध में जानकारी ली और खंड शिक्षा अधिकारियों को निर्देशित किया कि जैसे ही किताबें प्राप्त हो उसी दिन वितरण करना सुनिश्चित करें।
उन्होंने कहा कि निपुण लक्ष्य को शत-प्रतिशत प्राप्त करें। सभी न्याय पंचायतों में डिस्कवरी लैब बन जाए, जिससे बच्चों के मन में विज्ञान के प्रति रुचि बढ़े।बैठक में मुख्य विकास अधिकारी साईं तेजा सीलम, बेसिक शिक्षा अधिकारी डॉक्टर गोरखनाथ पटेल, प्राचार्य डायट सच्चिदानंद यादव, डीसी निर्माण रजा हसन, डीसी एमडीएम अरुण मौर्य, समस्त खंड शिक्षा अधिकारीगण व अन्य अधिकारी एवं कर्मचारीगण उपस्थित रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जानिए मुर्गा काटने के दुकान से कैसे मिला गुड्डू की लाश,पुलिस कर रही है जांच

बिजली विभाग बड़े बकायेदारो से बिल की वसूली कराये - डीएम जौनपुर

मंत्री गिरीश चन्द यादव का अखिलेश यादव पर जबरदस्त पलटवार,दे दिया केन्द्रीय मंत्री बनाने का आफर