कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर नदियों में श्रद्धालुओ ने लगाई आस्था की डुबकी,पूजन अर्चन के साथ किया दान


जौनपुर। कार्तिक पूर्णिमा के महापर्व पर मंगलवार को गोमती व सई नदी के घाटों पर श्रद्धालुओं ने आस्था की डुबकी लगाकर परिवार की सलामती के लिए पूजन अर्चन किया और दान आदि किया। आदिगंगा गोमती स्थित सूरजघाट व राजेपुर स्थित सई-गोमती के संगम पर भारी संख्या में श्रद्धालुओं ने स्नान कर दान-पुण्य किया। पिलकिछा घाट पर भी काफी संख्या में महिला व पुरुष पहुंचे थे। सुरक्षा के मद्देनजर मजिस्ट्रेट के अलावा पुलिस तैनात की गई थी।
शहर के पंचहटिया स्थित सूरज घाट पर मेले का षषआयोजन हुआ। गोमती नदी में स्नान कर लोगों ने दान-पुण्य किया। तत्पश्चात मेले में खरीददारी की। मेला सूरजघाट से लेकर पचहटिया, सेन्ट पैट्रिक स्कूल के सामने व राजा साहब के पोखरे तक फैला हुआ था। पूर्णिमा के मौके पर मेले के चलते भीड़ का आलम यह था कि जौनपुर-आजमगढ़ मार्ग पर सिपाह से लेकर पचहटिया तक जाम की स्थिति बनी रही। मेला में लाई, चूड़ा, रेवड़ा, मिठाई, खिलौने तथा कृषि व घर-गृहस्थी से सम्बंधित सामनों की के लगी थीं। महिलाएं सूप, दौरी, चलनी तो पुरुष कृषि के सामान हल चलाने का जुआ, हंसुआ, खुरपी, कुदाल, फावड़ा, सिंचाई में प्रयोग होने वाला लकड़ी का हत्था आदि खरीद रहे थे। बच्चे खिलौना खरीदने के साथ रंग बिरंगे शरबत पीकर आनन्द ले रहे थे। रूई फाहा की मिठाई भी खूब बिक रही थी। बड़े बुजुर्गों ने घर ले जाने के लिए लाई, चूड़ा, रेवड़ा आदि खरीदा। मेले में जगह बैठकर चोटहिया जलेबी की दुकानों पर लोगों की भीड़ लगी थी। लोग जमकर चोटहिया जिलेबी का स्वाद चख रहे थे। इस बार लकड़ी का तिन पहिया व मिट्टी के बर्तनों की बिक्री भी खूब हुई।कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर बदलापुर में मंगलवार को भारी संख्या में श्रद्धालुओं ने आदि गंगा गोमती के पश्चिम बहनी बलुआ तथा तिलवारी घाट पर पहुंचकर स्नान-दान किया। महिलाओं ने सुबह कढ़ाई चढ़ाकर विधि विधान से पूजन-अर्चन करने के बाद विदाई किया।
जलालपुर क्षेत्र स्थित आदि गंगा गोमती और सई नदी के संगम स्थल राजेपुर रामेश्वरम धाम पर मंगलवार की तड़के सुबह से श्रद्धालुओं ने डुबकी लगाकर भगवान रामेश्वरम को जलार्चन किया। मेले में काफी भीड़ रही। पूजा के बाद महिलाओं ने सौंदर्य प्रसाधन के सामान खरीदने में जुटी रही।सई गोमती संगम उदपुर घाट पर सुबह से श्रद्धालुओं ने स्नान कर भगवान बटेश्वरी महादेव का दर्शन पूजन किया। थानाध्यक्ष जितेंद्र बहादुर सिंह भी मौजूद रहे। मेले में लगे झूले चरखो का आंनद बच्चों ने लिया।
पिलकिछा घाट पर कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर श्रद्धालुओं ने पिलकीछा के आदि गंगा गोमती घाट पर स्नान कर दान पूण्य किया। मेले का भी शुभारंभ हुआ। मेले में सुरक्षा के लिए प्रभारी निरीक्षक के के चौबे पुलिस बल के साथ सुबह से चक्रमण करते रहे। शाहगंज वाया प्रयागराज राजमार्ग पर पिलकीछा तिराहे से लेकर नदी के पुल के पार तिलवारी गांव तक लगभग दो किमी मार्ग पर दिन भर जाम लगा रहा।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जानिए मुर्गा काटने के दुकान से कैसे मिला गुड्डू की लाश,पुलिस कर रही है जांच

बिजली विभाग बड़े बकायेदारो से बिल की वसूली कराये - डीएम जौनपुर

मंत्री गिरीश चन्द यादव का अखिलेश यादव पर जबरदस्त पलटवार,दे दिया केन्द्रीय मंत्री बनाने का आफर