पुलिस हिरासत में व्यापारी की हत्या के आरोप में 11 पुलिस कर्मी निलंबित, चिकित्सक बना मुजरिम

यूपी के कानपुर देहात स्थित शिवली में एक सप्ताह पहले सर्राफ से लूट के मामले में पुलिस ने पूछताछ के लिए लुटे व्यापारी के भतीजे को हिरासत में लेकर रनियां थाने ले गई, जहां देर रात अचानक उसकी हालत बिगड़ गई उपचार के लिए जिला अस्पताल ले जाया गया जहां उसे मृत घोषित किए जाते ही पुलिसकर्मी भाग गए। इसके बाद स्वजन ने पुलिस की पिटाई से मौत का आरोप लगाते हुए हंगामा किया। व्यापारी के कूल्हे के नीचे चोट के निशान मिले हैं। 
एसपी सुनीति ने रनियां व शिवली थाना प्रभारी, मैथा चौकी प्रभारी, एसओजी प्रभारी प्रशांत गौतम समेत 11 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया। रनियां थाने में हत्या व अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। पांच पुलिसकर्मियों को नामजद करने के अलावा जिला अस्पताल के अज्ञात डाक्टर को संदिग्ध भूमिका के लिए आरोपित बनाया गया है। मामले की पड़ताल के लिए एसआइटी बनाई गई है। डीएम नेहा जैन ने बताया कि मजिस्ट्रेट से भी जांच कराई जाएगी। 
सरैया लालपुर निवासी सर्राफ चंद्रभान सिंह की शिवली के मैथा बाजार में जेवरात और खाद की दुकान है। छह दिसंबर को रात में घर लौटते समय रास्ते में बाइक सवार बदमाशों ने उनसे करीब चार लाख की लूट की थी। इस मामले में सोमवार को पुलिस ने चंद्रभान के 26 वर्षीय भतीजे गिट्टी-मौरंग व चूनी-चोकर व्यापारी बलवंत सिंह को रनियां थाने ले गई। देर रात बलवंत की हालत बिगड़ने पर पुलिसकर्मी उन्हें पहले एक नर्सिंग होम ले गए फिर जिला अस्पताल ले जाने पर वहां डाक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।
गुस्साए स्वजन और ग्रामीण पोस्टमार्टम हाउस पहुंच गए और शव बाहर निकालकर हंगामा करने लगे। बलवंत के पिता श्याम सिंह का आरोप था कि शिवली पुलिस और एसओजी टीम की पिटाई से जान गई है। स्वजन ने पोस्टमार्टम कानपुर में कराने की मांग की। इसके बाद शव कानपुर भेजा गया। 
बलवंत के चाचा अंगद सिंह की तहरीर पर शिवली थाना प्रभारी राजेश सिंह, रनियां थाना प्रभारी शिवप्रकाश सिंह, एसओजी प्रभारी प्रशांत गौतम, एसओजी के कांस्टेबल महेश गुप्ता व अन्य अज्ञात, मैथा चौकी प्रभारी ज्ञानप्रकाश पांडेय व जिला अस्पताल के ड्यूटी डाक्टर अज्ञात के खिलाफ हत्या, बलवा, धमकाने व गाली-गलौज की धारा में मुकदमा रनियां थाने में दर्ज किया गया है। 
थाना प्रभारी शिवली राजेश सिंह, रनियां थाना प्रभारी शिव प्रकाश सिंह, मैथा चौकी इंचार्ज ज्ञान प्रकाश पांडेय, दारोगा संपत सिंह, हेड कांस्टेबल शिवली विनोद कुमार, सिपाही महेश गुप्ता, एसओजी प्रभारी प्रशांत गौतम, एसओजी के आरक्षी जयकुमार, सोनू यादव, अनूप कुमार, दुर्गेश कुमार के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई की गई है।

Comments

Popular posts from this blog

मछलीशहर (सु) लोकसभा में सवर्ण मतदाताओ की नाराजगी भाजपा के लिए बनी बड़ी समस्या,क्या होगा परिणाम?

स्वामी प्रसाद मौर्य के कार्यालय में तोड़फोड़ गोली भी चलने की खबर, पुलिस जांच पड़ताल में जुटी

लोकसभा चुनाव के लिए सायंकाल पांच बजे तक मतदान का प्रतिशत यह रहा