आइए जानते है बालू कारोबारी धर्मेंद्र यादव मौत का कारण क्या है, परिजन तहरीर हत्या की दिए


यूपी के बलिया जिले में नगरा-बेल्थरा रोड मार्ग पर रविवार सुबह सड़क किनारे गड्ढे में बालू कारोबारी धर्मेंद्र यादव (40) का शव मिला। उनकी बाइक भी क्षतिग्रस्त हाल में मिली। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। सड़क हादसे में मौत की आशंका है। इधर, धर्मेंद्र यादव की मौत की सूचना लगते ही परिवार में कोहराम मच गया। परिजनों ने हत्या की आशंका जताते हुए तहरीर दी है।
नगरा थाना क्षेत्र के देवढिया निवासी बालू कारोबारी धर्मेंद्र यादव शनिवार रात मालीपुर स्थित अपने रिश्तेदारी में निमंत्रण पर गए थे। रात में वो घर नहीं लौटे। परिजन रात भर धर्मेंद्र के मोबाइल पर फोन करते रहे लेकिन कॉल रिसीव नहीं हुआ। रविवार सुबह नगरा-बेल्थरारोड मार्ग पर मोहम्मदपुर के समीप सड़क के किनारे गड्ढे से मोबाइल बजने की आवाज आने पर राहगीरों का ध्यान गया।
झांका तो देखा कि गड्ढे में धर्मेंद्र यादव मरणासन्न अवस्था में पड़ा है। राहगीरों ने उसी के मोबाइल से परिजनों को इस बाबत सूचना दी। इसके बाद परिजन पुलिस को सूचना देने के साथ ही मौके पर पहुंच गए। धर्मेंद्र को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र नगरा पहुंचाया, जहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया।
आशंका है कि रात में किसी वाहन की टक्कर से बालू कारोबारी बाइक समेत गड्ढे में गिरकर गंभीर रूप से घायल हो गए। उपचार नहीं मिलने के कारण दम तोड़ दिया। बाइक भी बुरी तरह क्षतिग्रस्त है। बालू कारोबारी की मौत की सूचना पर थाने पर भारी भीड़ जुट गई। परिजन भी रोते-बिलखते थाने पर पहुंच गए।
क्षेत्राधिकारी रसड़ा शिव नारायण वैश ने थाने पहुंचकर जानकारी ली। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए बलिया भेज दिया। धर्मेंद्र  के भतीजे शैलेंद्र यादव ने हत्या की आशंका जताते हुए पुलिस को तहरीर दी है। बालू कारोबारी की पत्नी रीता देवी, 12 वर्षीय पुत्र और 10 वर्षीय पुत्री समेत अन्य परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। 


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मेदांता में इलाज करा रहे इस आईएएस अधिकारी का हुआ निधन

जौनपुर में फिर तड़तड़ायी गोलियां एक युवक गम्भीर रूप से घायल बदमाश फरार, पुलिस अंधेरे में चला रही छानबीन की तीर

थाना चन्दवक की वसूली लिस्ट वायरल होने पर एक बार फिर सुर्खियों में पुलिस जांच शुरू