आइए जानते है शिक्षक द्वारा छात्र के पिटाई का मामला कैसे बना मुकदमाबाजी का कारक


जौनपुर।सरायख्वाजा थाना क्षेत्र के रामपुर गांव में स्थित राम लखन सिंह इंटर कॉलेज में शिक्षक की पिटाई से छात्र के घायल होने पर आक्रोशित ग्रामीणों ने शनिवार को जमकर हंगामा किया। दोपहर डेढ़ बजे 200 की संख्या में ग्रामीणों ने कॉलेज पहुंचकर शिक्षक के चार पहिया वाहन में तोड़फोड़ की। मौके पर मौजूद शिक्षक भीड़ को देखकर कालेज के अंदर चले गए। दोनों पर पक्षों की तरफ से थाना पर तहरीर दे दी गई है। पुलिस मामले की छानबीन में जुटी हुई है। सरायख्वाजा थाना क्षेत्र के रामपुर गांव में स्थित इंटर कॉलेज में शुक्रवार को एक शिक्षक ने कक्षा 10 के छात्र की पिटाई कर दी। आरोप है कि उसे काफी चोटें आई थीं, जिसका प्राथमिक उपचार कराया गया। इसके बाद नाराज ग्रामीणों ने शुक्रवार की दोपहर में ही कॉलेज का घेराव कर नारेबाजी की थी। प्रधानाचार्य ने किसी तरह मामले को समझा-बुझाकर शांत कराया। फिर शनिवार की दोपहर में करीब डेढ़ बजे 200 की संख्या ग्रामीण शिक्षक को खोजते हुए कॉलेज पहुंच गए। शिक्षक दोपहर में अपनी कार से घर जाने की तैयारी कर रहे थे। तभी ग्रामीणों को आता देखकर वह कॉलेज के अंदर चले गए। ग्रामीणों ने गाड़ी को तोड़फोड़ कर क्षतिग्रस्त कर दिया। इस दौरान विद्यालय के कई शिक्षकों से विरोध करने पर झड़प भी हुई। किसी ने इसकी सूचना 112 नंबर पर दी। मौके पर पुलिस को देखकर ग्रामीण विद्यालय परिसर से भाग निकले। प्रधानाचार्य भूपेंद्र सिंह ने बताया कि शुक्रवार को कालेज के छात्र ने किसी बात को लेकर शिक्षक का कॉलर पकड़ लिया था, जिस पर उन्होंने उसे डांटते हुए एक थप्पड़ मारकर भगा दिया था। शनिवार को 200 की संख्या में पहुंचे ग्रामीणों ने शिक्षक की गाड़ी लाठी-डंडे से पीटकर क्षतिग्रस्त कर दिया। इसकी सूचना उन्होंने पुलिस को दे दी है। इस बाबत सरायख्वाजा थाना प्रभारी अखिलेश कुमार मिश्रा ने बताया कि दोनों तरफ से तहरीर मिली है। मामले की जांचकर कार्रवाई की जाएगी।

Comments

Popular posts from this blog

कांवड़ यात्रियों के लिए मुख्यमंत्री का शख्त आदेश, तो अखिलेश, मायावती का शख्त विरोध, जानें क्या है आदेश

हाईकोर्ट का शख्त आदेश एसपी जौनपुर एवं एसएचओ झूंसी लापता महिला को कोर्ट में करे हाजिर,जानें क्या है मामला

पैतृक सम्पत्तियों को विवाद मुक्त करने के लिए जानिए क्या व्यवस्था कर रही है यूपी सरकार, नहीं लगाने होंगे तहसील के चक्कर