सामूहिक विवाह कार्यक्रम को लेकर सपा नेता संजय यादव ने खड़ा किया यह सवाल


जौनपुर : मार्च के बीते सप्ताह से खरमास लगने से विवाह कार्यक्रम का आयोजन होने पर सवाल उठ रहे है। चालू वित्तीय वर्ष में विधायक रमेश सिंह के दवाब में ही सामूहिक विवाह कार्यक्रम का आयोजन कराने के दबाव में खरमास में ही शाहगंज महोत्सव करा के सामूहिक विवाह करा दिया गया।
समाजवादी पार्टी के नेता संजय यादव एडवोकेट ने शाहगंज महोत्सव पर आपत्ति जताई है। उन्होंने कहा सनातन धर्म के मान्यता के अनुसार जिस समय लोग नए वस्त्र नही खरीदते उस समय शादी कराना किसी पाप से कम नहीं है। खरमास के माह में शुभ और मांगलिक कार्य नहीं किए जाते हैं. शादी नए भवन का निर्माण गृह प्रवेश इत्यादि शुभ कार्य करने से लोग बचते है। वही विधायक द्वारा गरीब मजलूम में परिवार को अंधकार में रख ऐसा कृत्य कराना गरीबों के साथ भद्दा मजाक उड़ाया गया है। संजय यादव ने कहा विधायक द्वारा चीनी मिल? नया जिला बनाने के सभी दावे कहा गए? 
वित्तीय वर्ष की समाप्ति की आपाधापी में आखिर समाज कल्याण विभाग ने खरमास में बीना मुहूर्त के और विधायक रमेश सिंह ने अपनी वाहवाही लूटने के लिए रविवार को मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना मे शादियां कराया गया इससे सनातन धर्म में आस्था रखने वाले लोग जानना चाहते है क्या रामराज में गरीबों की शादी खरवास में ही कराई जाती हैं क्या राम राज्य में यही होता रहा है भाजपा के लोग सिर्फ और सिर्फ अपने फायदे के लिए किसी भी निम्न स्तर तक गिर सकते हैं

Comments

Popular posts from this blog

जौनपुर में चुनावी तापमान बढ़ाने आ रहे है सपा भाजपा और बसपा के ये नेतागण, जाने सभी का कार्यक्रम

अटाला मस्जिद का मुद्दा भी अब पहुंचा न्यायालय की चौखट पर,अटाला माता का मन्दिर बताते हुए परिवाद हुआ दाखिल

मछलीशहर (सु) लोकसभा में सवर्ण मतदाताओ की नाराजगी भाजपा के लिए बनी बड़ी समस्या,क्या होगा परिणाम?