डीएम सीडीओ सहित 51 अधिकारियों मनरेगा कार्यो का किया औचक निरीक्षण जानें क्या रहा सच


जौनपुर। महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी (मनरेगा) अधिनियम के अन्तर्गत जनपद के 21 विकास खण्ड में चल रहे कार्यों का औचक निरीक्षण जिलाधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी के द्वारा 51 जिलास्तरीय एवं विकास खण्ड स्तर के अधिकारियों के द्वारा एक साथ किया गया। 

नामित जाँच अधिकारीगण द्वारा विकास खण्डों के विभिन्न ग्राम पंचायतों में चल रहे कार्य का स्थल पर प्रातः 07.00 बजे उपस्थित होकर सत्यापन किया गया।
जिलाधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी का इस जाँच के पीछे मुख्य उददेश्य यह था कि योजना में कागज पर दिखाये जाने वाले कार्य वास्तव में मौके पर कराये जा रहे है अथवा नहीं। सभी 21 विकास खण्डो में नामित किये गये कुल 51 अधिकारियों द्वारा 54 परियोजनाओं का सत्यापन किया गया। 
निरीक्षण किये गये कुल 54 परियोजनाओं में मौके पर 6 परियोजनाओं पर कार्य नहीं होना पाया गया।

शेष समस्त परियोजनाओं पर श्रमिकों द्वारा कार्य किया जा रहा था एवं जिन परियोजनाओं पर कार्य बन्द था वहां के सम्बन्ध में अधिकारियो द्वारा यह बताया गया कि कुछ स्थलो पर विवाद,कुछ परियोजनाओं पर श्रमिक के समय से उपस्थित न होने तथा कुछ स्थलो पर श्रमिकों के आकस्मिक/पारिवारिक कारणों से कार्य बन्द पाया गया। 
समस्त खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि मनरेगा योजना में वर्तमान समय जिन परियोजनाओ पर कार्य प्रारम्भ है उस कार्य को अपेक्षित संख्या में श्रमिकों को लगाकर कार्य शीघ्र पूर्ण कराया जाना सुनिश्चित करें। ताकि श्रमिकों को रोजगार प्राप्त हो सके। 
योजनान्तर्गत वित्तीय वर्ष समाप्ति तक प्रत्येक परिवार को शासन के निर्देश के क्रम में 100 दिन का रोजगार आवश्यक रूप से प्रदान किया जाना है जिससे कि श्रमिकों को रोजगार प्राप्त होने के साथ साथ उनकी आर्थिक विपन्नता भी दूर हो सके साथ ही कार्य में पायी गयी कमियों के लिए जो भी दोषी होगा उसके विरूद्ध कार्यवाही सुनिश्चित करायी जायेगी।

Comments

Popular posts from this blog

जौनपुरिया दूल्हा स्टेज पर पिया गांजा तो दुल्हन ने किया शादी से इन्कार,पुलिसिया हस्तक्षेप के बाद बगैर दुल्हन के लौटे बाराती

एक लाख रुपए घूस लेते हुए लेखपाल चढ़ा एन्टी करप्शन टीम के हाथ पहुंच गया सलाखों के पीछे जेल

सड़क दुर्घटना में सिपाही की मौत विभाग में शोक की लहर