सरकारी कागजी बाजीगरी को मीडिया के जरिए जिला प्रशासन के शीर्ष अधिकारियों ने किया प्रचार-प्रसार,जारी किए यह आंकड़े



जौनपुर।ग्राम चौपाल की प्रथम वर्ष गाठ पर जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने कलेक्ट्रेट सभागार में मीडिया से वार्ता करते हुए दावा किया कि ‘‘ग्राम चौपाल (गाँव की समस्या, गाँव में समाधान) का आयोजन जनपद में 06 जनवरी 23 से प्रारम्भ हुआ है। जिसमें प्रत्येक शुक्रवार को जनपद के समस्त 21 विकास खण्ड क्षेत्रो के 02 ग्राम पंचायतों में चौपाल लगाया जाता है। इस प्रकार अब तक जनपद-जौनपुर प्रत्येक शुक्रवार को 42 ग्रामों में ग्राम चौपाल का आयोजन किया जा चुका है। जिसमें जनसामान्य की शिकायतों/समस्याओं का मौके पर निस्तारण किया जाता है तथा इसके साथ ही ग्राम्य विकास विभाग द्वारा विभिन्न कार्यक्रमों/निर्माण कार्यो का भौतिक सत्यापन भी किया जाता है। चौपाल का समय प्रातः 11ः00 बजे से चौपाल की समाप्ति तक रहता है, आयोजित चौपाल में किसी एक ग्राम पंचायत में जिलाधिकारी की अध्यक्षता में ग्राम चौपाल का आयोजन किया जाता है, जिसमें समस्त जिलास्तरीय अधिकारी उपस्थित रहते है। साथ ही अन्य ग्राम पंचायतों में खण्ड विकास अधिकारियों द्वारा अध्यक्षता की जाती है।
‘‘ग्राम चौपाल‘‘ में सांसद, पूर्व सांसद, विधायक, पूर्व विधायक,  विधान परिद सदस्य, पूर्व विधान परिषद  सदस्य, अध्यक्ष जिला पंचायत, पूर्व अध्यक्ष, जिला पंचायत सदस्य क्षेत्र पंचायत प्रमुख, पूर्व प्रमुख क्षेत्र पंचायत तथा ग्राम पंचायत के वर्तमान एवं पूर्व ग्राम प्रधान, क्षेत्र पंचायत सदस्य एवं ग्राम पंचायत सदस्यों की भी सहभागिता चौपाल में किए जाने की व्यवस्था है।
‘‘ग्राम चौपाल‘‘ में कराये गये कार्यों के निरीक्षण सहित मनरेगा के कार्य, मजदूरी भुगतान, महिला मेट, समूह की गतिविधियां यथा-समूह गठन, बी०ओ० सी०एल०एफ०, बी०सी० सखी, विद्युत सखी, लखपति महिला, टी०एच०आर० प्लान्ट, पंचायत विभाग द्वारा वित्त आयोग की धनराशि से कराये गये समस्त कार्य, ग्राम पंचायत में लगायी गयी लाइटों, सामुदायिक शौचालय, पंचायत भवन, जल निकासी नाली, सड़क/सम्पर्क मार्ग, गौ-आश्रय स्थल, स्कूल भवन, स्कूल संचालन, एम०डी०एम०, सिंचाई व्यवस्था (नहर/नलकूप), संचारी रोग, टीकाकरण, राशन वितरण, उज्जवला गैस कनेक्शन हर घर नल से जल, आंगनबाड़ी एवं ए०एन०एम० सेन्टर का निरीक्षण, वृद्धा विधवा एवं विकलांग पेंषन तथा छात्रवृत्ति का सत्यापन आदि किया जाता है। कार्यक्रम में आयुष्मान कार्ड, किसान सम्मान निधि, कृषि एवं कृषि रक्षा से जुड़े विषय, प्राकृतिक एवं आर्गेनिक खेती, हर घर नल से जल तथा सुशासन जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा की जाती है।
चौपाल में सम्बन्धित ग्राम के लेखपाल एवं राजस्व निरीक्षक भी चौपाल में उपस्थित रहते है तथा चकमार्ग, सार्वजनिक भूमि आदि की पैमाइश का कार्य भी होता है।‘‘ग्राम चौपाल में ग्राम्य विकास विभाग के अलावा अन्य विभागों यथा-पंचायत स्वास्थ्य, कृषि, राजस्व, शिक्षा, सिंचाई, नलकूल, पशुपालन, समाज कल्याण पिछड़ा वर्ग कल्याण, अल्पसंख्यक कल्याण, महिला एवं बाल विकास, खाद्य एवं रसद तथा जल जीवन मिशन/नमामि गंगे आदि के ग्राम स्तरीय कर्मचारी तथा ग्राम स्तरीय कर्मचारी न होने की स्थिति में उस विभाग के खण्ड स्तरीय अधिकारी द्वारा अनिवार्य रूप से प्रतिभाग किया जाता है। कार्यक्रम के आयोजन एवं अनुश्रवण का दायित्व जनपद के मुख्य विकास अधिकारी के स्तर से किया जाता है।
‘‘ग्राम चौपाल में प्राथमिकता के आधार पर समस्या का निराकरण कराया जाता है तथा किसी पुरानी एवं चिरप्रतीक्षित समस्या का निराकरण कर ग्रामवासियों तथा अन्य जनमानस को अवगत कराया जाता है। अच्छे कार्य करने वाले जनप्रतिनिधियों एवं कर्मचारियों (संविदा सहित) को प्रशस्ति-पत्र देकर सम्मानित किया जाता है। तथा इनको अपने पंचायत को आदर्श ग्राम पंचायत बनाने के लिए प्रेरित भी किया जाता है।
उन्होंने बताया कि जनपद जौनपुर में 06 जनवरी में 23 से 29 दिसम्बर 23 तक कुल 1740 ग्राम पंचायतो में 1924 जन चौपाल आयोजित की गयी है। जिनमें से 184 ग्राम पंचायतों में पुनः आयोजन किया गया है। ग्राम चौपाल कार्यक्रम में कुल 8747 ब्लाक स्तरीय अधिकारी / कर्मचारी तथा 14667 ग्राम स्तरीय अधिकारी / कर्मचारी उपस्थित रहे। ग्राम चौपाल में 211198 ग्राम वासियों ने प्रतिभाग किया। कार्यक्रम में 58192 जन शिकायतें प्राप्त हुयी। जिसके सापेक्ष 56125 शिकायतों का चौपाल कार्यक्रम में ही त्वरित निस्तारण कराया गया। अभी तक आयोजित ग्राम चौपाल के माध्यम से प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण में 362, मुख्यमंत्री आवास योजना-ग्रामीण के अन्तर्गत 708, दिव्यांगजन को, 3583 नट परिवारो को, 19 दैवीय आपदा से प्रभावित 909 लाभार्थियों को आवास से लाभान्वित किया जा चुका है। इसी प्रकार पति के मृत्यु उपरान्त निराश्रित महिला पेंशन से 5455, मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना में 15465, मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना में 1513, लाभार्थियों को लाभान्वित किया गया। किसान सम्मान निधि में 1301 लाभार्थियों का नवीन पंजीकरण किया गया, 16876 की ई0के0वाई0सी की गयी। लैण्ड सीडिंग 2016 किया गया। ए0बी0पी0एस0 अन्तर्गत 14054 कार्य पूर्ण किया गया। 9660 वृद्वा पेंशन तथा 167 दिव्यांग पेंशन के प्राप्त आवेदन को आनलाइन कराकर निदेशालय को अग्रसारित कर दिया गया है।                
ग्राम चौपाल की प्रथम वर्ष गाठ के उपलक्ष्य में कलेक्ट्रेट परिसर में विभिन्न योजनाओं की प्रदर्शनी के माध्यम से शासन के योजनाओं का व्यापक रूप से प्रचार-प्रसार कर आम जनमानस को लाभान्वित किया गया तथा शासन के विभिन्न योजनाओं में उत्कृष्ठ कार्य करने हेतु ब्लाक प्रमुख डोभी श्रीमती विद्या देवी, खण्ड विकास अधिकारी रामपुर सुश्री रिचा सिंह, खण्ड विकास अधिकारी मछलीशहर सचिन भारती, खण्ड विकास अधिकारी खुटहन गौरवेन्द्र सिंह, खण्ड विकास अधिकारी मुफ्तीगंज नन्दलाल, सहायक विकास अधिकारी (आई.एस.बी.) डा0 फूलचन्द कन्नौजिय, ग्राम विकास अधिकारी विपिन यादव, ग्राम विकास अधिकारी श्रुति गुप्ता, ग्राम विकास अधिकारी दुर्गेश तिवारी, ग्राम प्रधान सलखापुर, सिरकोनी प्रमोद कुमार,  ग्राम प्रधान महमूदपुर संजय प्रताप सिंह, ग्राम प्रधान सरायख्वाजा श्रीमती रैना सिंह, वरिष्ठ सहायक निखिल श्रीवास्तव को जिलाधिकारी द्वारा प्रशस्ति-पत्र एवं अंगवस्त्र देकर सम्मानित किया गया।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी साई तेजा सीलम, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 लक्ष्मी सिंह, परियोजना निदेशक, डी0आर0डी0ए0 जयकेश त्रिपाठी, जिला विकास अधिकारी विजय कुमार यादव, (उपायुक्त स्वतः रोजगार) ओम प्रकाश यादव, जिला पंचायत राज अधिकारी नत्थूलाल गंगवार एवं अन्य अधिकारी एवं कर्मचारीगण उपस्थित रहे।

Comments

Popular posts from this blog

डीएम जौनपुर ने चार उप जिलाधिकारियों का बदला कार्यक्षेत्र जानें किसे कहां मिली नयी तैनाती देखे सूची

पुलिस भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले में जौनपुर की अहम भूमिका एसटीएफ को मिली,जानें कहां से जुड़ा है कनेक्शन

जौनपुर में आधा दर्जन से अधिक थानाध्यक्षो का हुआ तबादला,एसपी ने बदला कार्य क्षेत्र