नये वर्ष में यूपी के इन 94 आइएएस अधिकारियों को मिली प्रोन्नत मिला उच्च वेतनमान का उपहार

प्रदेश के 94 आइएएस अधिकारियों को नए वर्ष पर प्रोन्नति और उच्च वेतनमान का उपहार मिला है। इनमें से चार अधिकारी प्रमुख सचिव और 17 सचिव के पद पर प्रोन्नत किये गए हैं। नियुक्ति विभाग ने अधिकारियों की पदोन्नति के बारे में रविवार देर रात आदेश जारी कर दिए हैं।
उत्तर प्रदेश काडर के 1999 बैच के चार आइएएस अधिकारी हैं जो 25 वर्ष की सेवा पूरी करने पर आयुक्त व सचिव स्तर से प्रमुख सचिव के पद पर प्रोन्नत किये गए हैं। इनमें मुख्य निर्वाचन अधिकारी नवदीप रिणवा, उप्र राज्य विद्युत उत्पादन निगम व पारेषण निगम के प्रबंध निदेशक पी.गुरूप्रसाद, आयुक्त अलीगढ़ मंडल रविन्द्र और आयुक्त राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र संयुक्ता समद्दार शामिल हैं।
16 वर्ष की सेवा पूरी करने वाले 17 अधिकारियों को विशेष सचिव का पद16 वर्ष की सेवा पूरी करने वाले 2008 बैच के 17 आइएएस अधिकारी विशेष सचिव से सचिव/आयुक्त के पद पर पदोन्नत हुए हैं। इनमें किंजल सिंह, सौम्या अग्रवाल, डा.सरोज कुमार, के.विजयेन्द्र पांडियन, पवन कुमार, कुमार रविकांत सिंह, डा.काजल, अमृत त्रिपाठी, बी.चंद्रकला, अनिल ढींगरा, राजेश कुमार-प्रथम, बाल कृष्ण त्रिपाठी, चन्द्र भूषण सिंह, विमल कुमार दुबे, सुख लाल भारती, डा.वेदपति मिश्र और अखिलेश सिंह शामिल हैं।
इनके अलावा 13 वर्ष की सेवा पूरी करने वाले 2011 बैच के 21 अधिकारी जो विशेष सचिव स्तर के हैं, उन्हें जूनियर एडमिनिस्ट्रेटिव ग्रेड से सेलेक्शन ग्रेड (पे मैट्रिक्स लेवल 12 से 13) में पदोन्नति मिली है। लिफाफा बंद होने के कारण तीन अधिकारी सेलेक्शन ग्रेड से वंचित रह गए।
नौ वर्ष की सेवा पूरी करने वाले 2015 बैच के 34 अफसर सीनियर टाइम स्केल से जूनियर एडमिनिस्ट्रेटिव ग्रेड (पे मैट्रिक्स लेवल 11 से 12) में प्रोन्नत हुए हैं। चार वर्ष की सेवा पूरी करने वाले 2020 बैच के 18 अधिकारी सीनियर टाइम स्केल में प्रोन्नत होकर ज्वाइंट मजिस्ट्रेट से सीडीओ के पद पर पदोन्नत हुए हैं।

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद