विधानसभा सत्र के दौरान सरकार से बीएचयू में आईआईटी की छात्रा से रेप काण्ड पर करेंगी सपा सवाल - अखिलेश यादव


आईआईटी बीएचयू में छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म के मामले को उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव विधानसभा में उठाएंगे। साथ ही घटना में आरोपियों की गिरफ्तारी में हुई देरी और आंदोलन कर रहे छात्रों पर संगीन धाराओं में लगाए गए फर्जी मुकदमे हटाने की मांग को लेकर प्रमुख सचिव से मिलेंगे। लखनऊ में सोमवार को बीएचयू के छात्रों से मुलाकात के दौरान अखिलेश यादव ने छात्रों को यह भरोसा दिलाया है कि विधानसभा में सरकार से इस पर जवाब भी मांगेंगे।
छात्रों ने 1 नवंबर की आधी रात बाद आईआईटी बीएचयू परिसर में छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना के दो महीने बाद आरोपियों की गिरफ्तारी होने, कुछ लोगों द्वारा सरंक्षण देने के साथ ही बीएचयू परिसर में दिव्यांग छात्रा के साथ छेड़खानी सहित अन्य घटनाओं के बारे में भी पूर्व मुख्यमंत्री को बताया।
एनएसयूआई बीएचयू इकाई के पूर्व अध्यक्ष राणा रोहित के नेतृत्व में मिलने गए छात्रों में आईआईटी बीएचयू छात्र भी शामिल रहे। राणा रोहित ने बताया कि सोमवार की रात में पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से करीब घंटे भर तक चली बातचीत में विश्वविद्यालय परिसर के हॉस्टल में ओबीसी आरक्षण का पालन न होने, नेट फेलोशिप में वृद्धि न होने, महिला सुरक्षा सहित छात्रों के अन्य समस्याओं को भी बताया गया। साथ ही उसको इंडिया गठबंधन के मैनिफेस्टो में शामिल करने की मांग भी की गई। 
दो दिन पहले आरोपियों लगा था गैंगस्टर
आईआईटी-बीएचयू की बीटेक की छात्रा से सामूहिक दुष्कर्म के तीन आरोपियों के खिलाफ लंका थाने में इंस्पेक्टर शिवाकांत मिश्र की तहरीर के आधार पर गैंगस्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। तीनों आरोपी 31 दिसंबर 2023 से जिला जेल में बंद हैं। तीनों आरोपियों के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म के आरोप में बीते 17 जनवरी को पुलिस ने अदालत में चार्जशीट दाखिल की थी।

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद