जनपद में आज पुलिस एवं खाद्य सुरक्षा विभाग के संरक्षण में जारी है मीठे जहर दोहरे की बिक्री ,जिला प्रशासन के सभी प्रयास फेल

     


 जौनपुर।  जनपद वासियों के स्वास्थ्य का हवाला देकर जिला प्रशासन मीठा जहर दोहरा को पूरी तरह से बन्द कराने में लगा रहा तो इसी का लाभ उठाते हुए आकंठ भ्रष्टाचार में डूब चुकी पुलिस एवं  खाद्य सुरक्षा विभाग को पटा कर दोहरे के कारोबारी अपने धन्धे को चोरी छिपे जारी रखें और महंगे दामों पर दोहरा बेचते रहे है। लेकिन संयोग से देश कोरोना संक्रमण की चपेट में आ गया और सरकार ने सभी सरकारी मशीनरी को कोरोना से बचाव में लगा दिया तो जिला प्रशासन दूसरी ओर व्यस्त हुआ इसका पूरा फायदा उठाते हुए दोहरे के कारोबारी पुलिस को मोटी रकम देकर फिर सक्रिय हो गये और मीठे जहर के करोबार बड़े पैमाने पर शुरू कर दिया। 
यहाँ बतादे कि वर्तमान जिलाधिकारी जनपद में कार्यभार ग्रहण करने के साथ ही दोहरा नामक मीठे जहर को पूर्ण रूप से खत्म करने का एलान किया और उस दिशा में आगे बढ़ते हुए एक अभियान चलाया तमाम जतन किये कि दोहरा बन्द हो जाये। दोहरा कारोबारीयो के साथ बैठके कर जनपद वासियों के स्वास्थ्य हेतु इसे बन्द करने की अपील किया। दोहरा बन्द कराने के नाम पर खूब सुर्खियां भी बटोरी दोहरा खाने वालों तक को जुर्माना लगाने का एलान किया।इसे बन्द करने के लिए एक नोडल अधिकारी को नियुक्त कर दिया गया था जो छापा मारी कर दोहरा कारोबारीयो के खिलाफ कार्यवाही भी कर रहा था। जिला प्रशासन के सक्रियता से एक बार लगा कि दोहरा अब इतिहास की बात हो जायेगा। क्योंकि प्रशासन के भय से दोहरा खुले आम बिकना बन्द हो गया था। लेकिन चोरी छिपे ग्रामीण क्षेत्रों में दोहरा की आपूर्ति जारी रही कारोबारी जिलाधिकारी की अपील मानने से परहेज कर लिए थे। 
कोरोना संक्रमण के चलते जैसे ही लाक डाऊन शुरू हुआ जिला प्रशासन का पूरा अमला कोरोना संक्रमण से निपटने में लग गया इसका फायदा उठाते हुए दोहरे के कारोबारी खास कर शहरी क्षेत्र के, इलाका पुलिस को मोटी रकम देकर पटा लिया और खाद्य सुरक्षा विभाग एवं  पुलिस की सरंक्षण में फिर दोहरे का कारोबार शुरू हो गया। सूत्र की माने तो दोहरा कारोबारी दोहरा बनाने के कारखाने का स्थान शहर के बजाय ग्रामीण इलाके में बना लिया है। आकंठ भ्रष्टाचार में डूब चुकी पुलिस एवं खाद्य सुरक्षा विभाग के अधिकारी म पैसा लेकर इस मीठे जहर के निर्माण में सहयोगी बन गये है। 
खबर है कि मुहल्ला काली कुत्ती में  राजू दोहरा वाला आज भी बड़े पैमाने पर दोहरा बना कर आपूर्ति कर रहा है। वहीं शंकर के नाम से मसहूर दोहरा आज भी बन रहा है। इतना ही नहीं शहरी इलाके में लगभग 80प्रतिशत पान के दुकान दार मावा के नाम पर दोहरा बना कर दो से तीन गुना अधिक मुल्य पर बेंच रहे है। सभी को खाद्य सुरक्षा विभाग एवं  पुलिस का संरक्षण प्राप्त है। खबर यह है कि शिकायत के आधार पर आज 31मई को शहर कोतवाली की पुलिस ने 12 बोरा दोहरा की  बरामदगी करते हुए चार लोगों को गिरफ्तार किया लेकिन बाद में मोटी धनराशि लेकर जेब गरम करते हुए मामले को कमजोर करने का पूरा प्रयास किया । कहीं भी सरकारी अभिलेख में 12 बोरा दोहरा बरामदगी का जिक्र तक नहीं किया है जो चर्चा का बिषय बना रहा। सूत्र की माने तो मीडिया में चर्चा होने पर पुलिस ने पकड़े गये चारो लोगों की चालान 290 पुड़िया दोहरा की बरामदगी दिखा कर हल्की धाराओं में  कर दिया और पूरे मामले की ऐसी की तैसी कर दी है। 

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद